Tuesday, 24th October, 2017

चलते चलते

भतीजे की अमेरिका में नौकरी लगी, जलनखोर चाची ने ट्रंप से की भारतीयों पर बैन लगाने की मांग

30, Jan 2017 By banneditqueen

भोपाल. अरेरा कॉलोनी में रहने वाले गुप्ता परिवार में पिछले एक महीने से खुशी का माहौल था। हुआ यूँ कि शरद गुप्ता के इकलौते बेटे मुकेश की अमेरिका में नौकरी लग गई थी। पिछले कई महीनों से पूरे परिवार को ऑफर लेटर आने का इंतज़ार था और जैसे ही उन्हें ये पता चला कि बेटा अमेरिका जा रहा है तो पूरा परिवार खुशी से फूला नहीं समा रहा था। पूरी कॉलोनी में लड्डू बाँटे जा रहे थे, कई रिश्तेदार तो इसी चक्कर में मिलने आ गए कि मुकेश अमेरिका से वापस आएगा तो शायद उनके लिये कोई गिफ्ट ले आए।

मुकेश की सफलता पर मुँह बनाती चाची
मुकेश की सफलता पर मुँह बनाती चाची

पर मुकेश की सगी चाची मीना कुछ खासी खुश नहीं थी। जब से उन्हें यह खबर तभी से किसी ना किसी बात पर मुकेश और उसकी माँ को ताना देती। “गोरी मेम से शादी कर लेगा वहाँ जाकर”, “एक बार विदेश गया तो वापस नही आएगा ये बता देती हूँ मैं”, “हमारे पड़ोसी के ताऊ के बेटे के दोस्त का दोस्त गया था विदेश, वहाँ जाकर शराब की लत लगा ली और एक फिरंग से शादी भी कर ली, माँ बाप अकेले रहते हैं कोई पूछने वाला नहीं।” ये बात साफ थी की मीना चाची को मुकेश का विदेश जाना ज़रा भी रास नहीं आ रहा था। और वह इस बात को ज़़ाहिर करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही थी।

दरअसल मीना चाची का बेटा वरुन तीन बार बैंक पीओ की परीक्षा में बैठा और क्लर्क भी नहीं निकाल सका शायद यही कारण था कि उन्हें मुकेश की सफलता से इतनी दिक्कत थी। दो दिन पहले जब अमेरिका के नव निर्वाचित राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने कुछ मुस्लिम देशों पर वीज़ा और देश में एंट्री पर बैन लगा दिया तब ही चाची बोल पड़़ी “इसको तो भारतीयों पर भा बैन लगा देना चाहिए।” यह बोलते ही सारे रिश्तेदार चाची को घूर घूर कर देखने लगे। घबराते हुए चाची ने बात सम्भालने कोशिश की और बोलीं “अरे मेरा मतलब है कि हमारे देश से लोग पढ़ लिख कर बाहर जाते हैं और उनकी भलाई करते हैं, देश में रहकर देश के लिये काम करें तो देश आज अमेरिका से भी आगे होता।” चाची की लगातार बद्तमीज़ी के चलते कोई परिवार वाला चाची से बात नहीं कर रहा है।



ऐसी अन्य ख़बरें