Wednesday, 22nd November, 2017

चलते चलते

"मन की बात छोड़ो, चलो 'धन की बात' करें"- कहकर ट्रम्प ने बेच डाले करोड़ों के हथियार

25, Jun 2017 By Ritesh Sinha

वॉशिंगटन डीसी. डोनाल्ड ट्रम्प के राष्ट्रपति के बनने के बाद, प्रधानमंत्री मोदी पहली बार अमेरिका के दौरे पर हैं, जहाँ वे ट्रम्प के साथ कई अहम मुद्दों पर चर्चा करने वाले हैं। इसी बीच इंडिया में मोदीजी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम का भी प्रसारण किया गया। चूँकि, मोदीजी इस वक़्त अमेरिका में हैं, इसलिए ट्रम्प को भी मजबूरी में ‘मन की बात’ कार्यक्रम पूरा सुनना पड़ा। जैसे ही ‘मन की बात’ ख़त्म हुई, वो सीधे मोदी से मिलने उनके रूम में पहुँच गए। “वाह! मज़ा आ गया। बहुत अच्छा प्रोग्राम था। खैर! अगर आपकी ‘मन की बात’ हो गई हो, तो अब कुछ ‘धन की बात’ भी कर लें!” -ट्रम्प ने मोदीजी से हाथ मिलाते हुए कहा।

Modi-Trump
हथियार बेचने के लिए मोदी जी के गले पड़ते ट्रंप

दोनों नेता कुर्सी पर बैठ गए। ट्रम्प ने रिमोट का बटन दबाया तो सामने एक बड़ी स्क्रीन पर कुछ फोटो नज़र आने लगे। “चलो बताओ, मेरे सच्चे दोस्त! कौन-कौन से हथियार खरीदोगे?” -ट्रम्प ने एक ब्रोशर मोदी जी के हाथ में थमाते हुए कहा। मोदी जी ने बहुत देर तक ड्रोन, मशीनगन्स, तोप, लड़ाकू विमान वगैरह के फोटो देखे और बोले “मुझे ज्यादा नहीं खरीदना है, बस! दस-बीस आर्टिलरी गन्स ही दे दीजिए! बस!”

“अरे यार! कैसे नहीं खरीदोगे। इसे देखो! ये है हल्की मशीन गन। इसके साथ एक ऑफर भी चल रहा है, ऑफर का नाम है- ‘खुलेआम तारीफ़ योजना’, इस योजना के तहत अगर आप यह गन्स खरीदते हैं, तो मैं आपकी खुले आम तारीफ़ करूँगा! या फिर ये लड़ाकू विमान खरीद लो! इसके साथ भी एक ऑफर है, “पाकिस्तान कड़ा संदेश योजना’ अगर आप बीस लड़ाकू विमान खरीदते हैं तो मैं पाकिस्तान को कड़ा संदेश दूंगा!”

ट्रम्प के ऑफर सुनकर मोदीजी सोच में पड़ गये। थोड़ी देर तक इधर-उधर देखने के बाद धीरे से बोले- “चलो ठीक है! ये वाला दस पीस डाल दो! ये वाला पांच, और इसके पच्चीस पीस डाल दो! इतना काफी है!” इतना सुनते ही ट्रम्प थोड़ा मायूस हो गए, उन्होंने अपनी कुर्सी मोदीजी की ओर खींचते हुए कहा- “इस बार तो आप बहुत कम खरीद रहे हो! ये क्या बात हुई? इससे ज्यादा शॉपिंग तो अपना नवाज शरीफ कर लेता है।” -कहते हुए ट्रम्प ने मोदीजी की शॉपिंग लिस्ट को जबरन दोगुना कर दिया। “अरे रुको..रुको, इतना सारा लेकर मैं क्या करूँगा..।” मोदीजी यह कह ही रहे थे कि ट्रम्प बीच में टोकते हुए- “चलो, चलो! हो गई शॉपिंग। मोदीजी यू आर ग्रेट! आई लव इंडिया, एंड इंडियंस!” ऐसा कहते हुए दोनों नेता रूम से बाहर निकलने लगे। एक ओर जहाँ ट्रम्प के चेहरे पर मुस्कान थी तो वहीँ मोदीजी को कुछ समझ नहीं आ रहा था।



ऐसी अन्य ख़बरें