Wednesday, 22nd February, 2017
चलते चलते

पंजाब चुनाव की वजह से किया गया पासपोर्ट बनाना आसान, कांग्रेस ने नहीं कनाडा ने लगाया आरोप

25, Dec 2016 By Ritesh Sinha

ओटावा/चंडीगढ़. केंद्र सरकार पर पंजाब में वोट बैंक की राजनीति करने का गंभीर आरोप लग रहा है। लेकिन ये आरोप कांग्रेस पार्टी ने नहीं बल्कि कनाडा की सरकार ने लगाया है। जैसे ही भारतीय विदेश मंत्रालय ने पासपोर्ट बनाने की प्रक्रिया को सरल करने का एलान किया, कनाडा सरकार भड़क गई और उसने तुरंत एक बयान जारी कर कहा है कि ये सब पंजाब के चुनाव को ध्यान में रखते हुए किया गया है, ताकि कनाडा आने का सपना देखने वाले पंजाब के युवकों के वोट हासिल किये जा सकें।

passport1
अब इस ऑफ़िस पर भीड़ बढ़ने वाली है

कनाडा के विदेश मंत्री स्टीफन डायन ने तुरंत एक प्रेस कांफ्रेंस करके भारत सरकार पर अपना गुस्सा उतारा- “भारत सरकार को पासपोर्ट बनाना आसान करने की क्या जरूरत थी! जब इंडिया में पासपोर्ट हासिल करना एवरेस्ट पे चढ़ाई करने से भी ज़्यादा मुश्किल था, तब भी इतने सारे इंडियन यहां आ गए! और अब लड्डू की तरह पासपोर्ट बांट-बांट कर क्या हमारे देश पर कब्जा करना चाहते हो?”

“हम सब जानते हैं। इंडिया में हर काम के पीछे वोटों का चक्कर होता है। ये सब भी वोट बैंक के लिए ही हो रहा है ताकि आगामी पंजाब चुनाव में बीजेपी और अकाली दल इसका फायदा उठा सकें। उनको तो पासपोर्ट बांटकर लाख-दो लाख वोट मिल जायेंगे लेकिन झेलना तो हमें पड़ता है- यहां कनैड्डा में! सॉरी…कैनेडा में! पंजाबियों के साथ रह-रहकर हम भी अपने देश को कनैड्डा बोलने लगे हैं।” -स्टीफन ने झेंपते हुए कहा।

लेकिन प्रेस कांफ्रेंस ख़तम होते ही मंत्री जी ठीक इसके उलट बात करने लगे। उन्होंने ऑफ द रिकॉर्ड फेकिंग न्यूज़ को फोन पर बताया कि “क्या करें! हमें भी वोट के लिए ऐसा ही कुछ करना पड़ता है। अब मुझे ही ले लो, मैं खुद पंजाबी सीख रहा हूँ ताकि अगले चुनाव में आसानी से जीत जाऊं”- कहते हुए स्टीफन जी ने फोन मुंह के पास से हटाया और जोर से चिल्लाए- ओए परमिंदर! गड्डी निकाल ओए, पंजाबी क्लास जाना है, देर हो रही है।“

उधर, पंजाब में पासपोर्ट नियम आसान होने की ख़बर सुनते ही लाखों लोगों ने पासपोर्ट ऑफिस की ओर कूच कर दिया है।



ऐसी अन्य ख़बरें