Wednesday, 18th October, 2017

चलते चलते

पाकिस्तान में भी भारत के पुराने नोट बदलने की मांग उठी, नक़ाबपोश लोगों ने जगह-जगह किये प्रदर्शन

15, Nov 2016 By बगुला भगत

इस्लामाबाद. भारत में 500-1000 के नोटों पर लगी पाबंदी का असर पड़ोसी देश में भी दिखायी देना शुरु हो गया है। अब पाकिस्तान में भी भारत के पुराने नोटों को बदलने की मांग उठने लगी है। नक़ाब से चेहरा ढंके हज़ारों लोगों ने आज कराची, पेशावर और राजधानी इस्लामाबाद समेत कई शहरों में प्रदर्शन किये।

Masked Protesters2
नवाज़ शरीफ़ के घर के बाहर प्रदर्शन करते कुछ नक़ाबपोश

ये नक़ाबपोश लोग हाथों में इंडियन करेंसी के 500 और 1000 के पुराने नोटों की गड्डियां लहरा रहे थे और चिल्ला रहे थे- , “नोट-नोट सब एक हैं, कौन कहता ये फेक हैं” और “धंधे पे पड़ गई भारी चोट, हमें भी चहिये नये-नये नोट!” “हमारे भी नोट बदलो भैय्या, बदलो भैय्या बदलो भैय्या!”

इस प्रदर्शन से घबराकर प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने हड़बड़ी में एक सर्वदलीय बैठक बुलाई, जिसमें कुछ नक़ाबपोश लोगों ने भी भाग लिया। इस बैठक में फ़ैसला लिया गया कि भारत के प्रधानमंत्री से रिक्वेस्ट की जाये कि वो पाकिस्तान में भी नोट बदलने की कुछ व्यवस्था करें। उनसे कहा जाये कि अपने नये वाले नोट हमारे बैंकों में भी भेजें।

बैठक ख़त्म होते ही नवाज़ शरीफ़ ने प्रधानमंत्री मोदी से हॉटलाइन पर बात की। उन्होंने गुज़ारिश की कि “मोदी भाई, हमारे यहां भी कुछ एटीएम-वेटीएम का बंदोबस्त करो ना!

“अब आपसे क्या छुपाना! ख़ुदा क़सम, रोज़मर्रा का खर्च चलाने के भी लाले पड़ रहे हैं मोदी भाई! लोगों को सेलरी देने के भी पैसे नहीं हैं। आपके वाले नोटों की अदला-बदली करके किसी तरह खर्चा चलता था…” – कहते कहते शरीफ़ का गला भर आया।

मोदी जी ने मज़े लेते हुए कहा- “क्या नकली नोटों की बात कर रहे हो शरीफ़ भाई?”, तो शरीफ़ बोले- “क्या बात कर रहे हैं मोदी भाई। एकदम सौ टका असली नोट हैं। बेशक आप चेक करा लो!” फिर गला साफ़ करते हुए बोले- “सिर्फ़ आतंकवादियों की बात नहीं है। हमारे दाऊद यार-रिश्तेदारों को भी बहुत दिक़्क़त हो रही है।”

तभी पीएमओ का एक अधिकारी दौड़ता हुआ आया और टीवी ऑन करते हुए बोला- “सर, केजरीवाल की पीसी चालू हो गयी!” यह सुनते ही मोदी जी ने शरीफ़ से कहा- “शरीफ़ भाई, एक बहुत ज़रूरी काम आ गया है, मैं आपको बाद में फ़ोन करता हूं।” और फ़ोन काट दिया।



ऐसी अन्य ख़बरें