Tuesday, 28th February, 2017
चलते चलते

सेटेलाइट की भीड़ से इंटरनेशनल उपग्रह हाइवे पर लगा जाम, नासा का आरोप

16, Feb 2017 By bapuji

वॉशिंगटन. जहाँ सारा विश्व भारतीय स्पेस एजेन्सी इसरो को एक साथ 104 सेटेलाइट लांच करने के लिए बधाई दे रहा है, वहीं अमेरिकी स्पेस एजेन्सी ‘नासा’ ने स्पेस सर पर उठा लिया है। नासा ने संयुक्त राष्ट्र में शिकायत दर्ज करायी है कि इंडिया ने इंटेरनेशनल उपग्रह हाइवे पर जाम लगा दिया है।

satellites in space1
स्पेस के उपग्रह हाईवे पर लगा सैटेलाइट जाम

नासा के मुख्य वैज्ञानिक प्रोफ़ेसर चार्ल्स जैवियर ने इसरो पर निशाना साधते हुए कहा कि “जब इटना सारा सेटेलाइट एक साथ ऊपर भेजेगा तो जाम तो लगेगा ही ना! ऊपर से इंडिया का एक सेटेलाइट केस्ट्रोसेट, भरे हाइवे के बीच में पार्किंग कर के आस-पास घूमने चला गया। पीछे हमारे सेटेलाइट हॉर्न बजाते रहे लेकिन ये पूरा टाइम लेकर घूम-घाम कर वापस आया और हॉर्न बजाते हमारे एक सेटेलाइट को कोई गाली भी दी। इसके बाकी 103 साथियों ने भी उसी का साथ दिया और हमारे सेटेलाइट को देख लेने की धमकी भी दी। हमारा टीम उस गाली वाले सिग्नल को प्रोसेस कर रहा है।”

“ऊपर से कल लांच के बाद इतना हॉर्न और धुआं हुआ कि हमारा कई सेटेलाइट एकदम फ्रस्टेट हो गया और उनका पुर्जा ढीला हो गया। हमारा सेटेलाइट को इतना भारी ट्रैफिक में चलने का आदत नहीं है। लगता है अब हमको भी बंगलोर से इसरो का ड्राइविंग वाला सॉफ़्टवेयर मंगाना पड़ेगा!” -मिस्टर जैवियर ने पसीना पोंछते हुए कहा।

इधर, इसरो ने इन आरोपों को सिरे से नकार दिया है। एक वैज्ञानिक ने फ़ेकिंग न्यूज़ के संवाददाता को फुसफुसाते हुए बताया कि “अपना सेटेलाइट केस्ट्रोसेट नया है बेचारा! पहली बार ऑन-साइट गया था तो आस-पास नज़ारे देखने चला गया। इस पर इतना हल्ला मचाने की क्या ज़रूरत है! इन अमेरिकियो को ढंग से चलाना नहीं आता, बगल से काट के निकल लो ना भया!”

बहरहाल, संयुक्त राष्ट्र ने एक कमेटी बना कर मामले की जाँच शुरू कर दी है। अगर नासा के आरोपों में कुछ सच्चाई पाई जाती है तो भारत के इन सेटेलाइट्स का चालान भी हो सकता है।



ऐसी अन्य ख़बरें