Saturday, 23rd September, 2017

चलते चलते

रोहिंग्या ने की मलाला से पाक में शरण की गुज़ारिश, मलाला ने कहा ''मैं खुद ही वहां नहीं रहती''

06, Sep 2017 By banneditqueen

बर्मिंघम. कई दिनों से रोहिंग्या मुसलमानों का मसला चर्चा में हैं। नोबल पुरूस्कार विजेता मलाला यूसुफ़ज़ई ने भी म्यांमार की आंग सान सू ची से रोहिंग्या मसले पर बोलने को कहा। हालांकि जब मलाला से पाकिस्तान द्वारा बलूचिस्तानियों के क़त्ल पर सवाल किया जब उन्होंने कहा कि वो इन सब मामलों पर बात करने से बचती हैं।

पाकिस्तान द्वारा किये जा रहे अत्याचारों पर चुप्पी साधे मलाला
पाकिस्तान द्वारा किये जा रहे अत्याचारों पर चुप्पी साधे मलाला

जब रोहिंग्या मुसलामानों को पता चला कि न बांग्लादेश न भारत उन्हें शरण देने को तैयार है पर पकिस्तान की मलाला ने उनके लिए आवाज़ उठाई है, तब उन्होंने मलाला से अपील की कि वो उन्हें पाकिस्तान में शरण दिलवाएं। जब मलाला से फेकिंग न्यूज़ ने इस बारे में बात करने की कोशिश की तो पहले तो उन्होंने बात करने से साफ़ मना कर दिया। बड़ी मुश्किल के बाद वो बात करने को तैयार हुई। मलाला से हमने पूछा कि ”आप बस तभी क्यों मीडिया में बयान देती हैं जब दूसरे देशों में मुसलमान तकलीफ में होते हैं? आप कभी भी पाकिस्तान द्वारा बलूचियों पर हो रहे अत्याचार पर कभी नहीं बोलती।”

इस पर मलाला ने कहा ”देखिये पाकिस्तान में हुए अत्याचार की वजह से ही मैं आज विदेश में आराम की ज़िन्दगी जी रही हूँ। ऐसे में उन अत्याचारों के खिलाफ बोलना मेरे आदर्शों के खिलाफ है।” जब मलाला से हमने पूछा कि वो रोहिंग्या मुसलामानों के लिए पाकिस्तान में शरण की मांग क्यों नहीं कर रहीं?” तब मलाला ने जवाब दिया ”क्या बात कर रहे हैं आप? मैं खुद ही वहां नहीं रहती अपनी जान बचाने के लिए। रोहिंग्या के लिए कहाँ से शरण मांग लूँ।”



ऐसी अन्य ख़बरें