Sunday, 22nd October, 2017

चलते चलते

शेक्सपियर के नाटक में होगा बदलाव, जूलियट की फ़ैमिली को कहा जाएगा 'एंटी-रोमियो स्क्वायड'

29, Mar 2017 By बगुला भगत

लंदन. यूपी में चल रहे एंटी-रोमियो अभियान की गूंज सात समंदर पार इंग्लैंड तक पहुंच गयी है। यूपी पुलिस के ‘एंटी-रोमियो स्क्वायड’ से प्रेरित होकर इंग्लैंड की सरकार भी अब शेक्सपियर के मशहूर नाटक ‘रोमियो-जूलियट’ में बदलाव करने वाली है। इस बदलाव के बाद रोमियो के दुश्मनों यानि जूलियट के घरवालों को ‘एंटी-रोमियो स्क्वायड’ कहकर पुकारा जायेगा।

Romeo-and-Juliet4
रोमियो को बाज़ार में पकड़कर पूछताछ करते जूलियट के घरवाले

इंग्लैंड की खेल एवं संस्कृति मंत्री कैरन ब्रैडले ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि “हां, हम रोमियो-जूलियट में बदलाव करने वाले हैं। जूलियट के कैपुलेट खानदान को अब ‘एंटी-रोमियो स्क्वायड’ कहा जायेगा। इसके लिये हमारी सरकार जल्दी ही पार्लियामेंट में ‘रोमियो एवं जूलियट वंशावली नामकरण संशोधन विधेयक’ पेश करने वाली है। जिसके पास होने के बाद यह क़ानून बन जायेगा।”

ब्रैडले ने इस बदलाव के लिये यूपी पुलिस का आभार जताया और कहा कि अगर यूपी पुलिस ना होती तो हमारा कभी इस बात पे ध्यान जाता ही नहीं! उन्होंने हैरानी जताते हुए कहा- “कमाल है! पांच सौ सालों में हमारे किसी बंदे के दिमाग़ में ये बात नहीं आयी कि अगर जूलियट का परिवार रोमियो का दुश्मन है तो वो ‘एंटी-रोमियो’ ही तो हुआ ना!”

“लेकिन यूपी पुलिस तो छेड़छाड़ करने वालों को रोमियो कह रही है, जबकि रोमियो तो ऐसा नहीं…” इस पर ब्रैडले बात को बीच में ही काटते हुए बोलीं कि “हम गारंटी के साथ कैसे कह सकते हैं कि रोमियो ने कभी छेड़छाड़ की थी या नहीं! हो सकता है उसने जूलियट को ‘कलावा’ बांधकर फंसाया हो और शेक्सपियर ‘सिकुलर लिब्टार्ड’ रहा हो और उसने यह बात छुपाई हो।”

“इसलिये हम विशेषज्ञों का एक जांच दल बनाएंगे, जो ‘रोमियो-जूलियट’ नाटक का बारीकी से अध्ययन करेगा और इस बात का पता लगायेगा कि कहीं शेक्सपियर ने छेड़छाड़ वाली बात को छुपाकर रोमियो का ‘तुष्टिकरण’ तो नहीं किया था”

इंग्लैंड के अलावा इटली में भी ‘एंटी-रोमियो स्क्वायड’ की ही चर्चा हो रही है। उत्तरी इटली में स्थित वेरोना शहर (जहां रोमियो-जूलियट रहते थे) में भी अब मनचलों को रोमियो नाम से पुकारा जाने लगा है। पुलिस जगह-जगह नाकेबंदी करके ‘रोमियोजनों’ की धरपकड़ कर रही है।



ऐसी अन्य ख़बरें