Sunday, 17th December, 2017

चलते चलते

घाटी में फेंके जाने वाले पत्थरों की क्वालिटी में भारी गिरावट, ISI ने नवाज़ शरीफ़ को किया तलब

19, Aug 2016 By Pagla Ghoda

इस्लामाबाद. घाटी में फेंके जाने वाले पत्थरों की क़्वालिटी में आयी भारी गिरावट से पाकिस्तान की तथाकथित ख़ुफ़िया एजेंसी ISI काफी चिंतित है। सूत्रों के अनुसार ISI के हेड अनवर अली बिलावजह ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ को इस मामले में फ़ौरन तलब किया है।

stones
नवाज़ को पत्थरों की क्वालिटी दिखाते बिलावजह

फेकिंग न्यूज़ के हाथ लगे एक ख़ुफ़िया वक्तव्य में बिलावजह ने कहा है, “जहाँ हम भारतीय मीडिया के कुछ नुमाइंदों का उनकी मदद के लिए एहतराम करते हैं, कि उन्होंने बार बार हमारी पत्थरबाज़ी को बढ़ा चढ़ा कर पेश किया, वहीं हमारी खुद की पत्थर मार फ़ौज से हम काफी निराश हैं। जब हमारे दहशत गर्दों को घाटी में घुसपैठ करनी होती थी, तब ये पत्थर मार पूरी दुनिया का ध्यान काफी अच्छे से बंटा देते थे।”

“लेकिन आजकल इनके फेंके पत्थरों की क़्वालिटी में काफी गिरावट आयी है। अब इंडियन आर्मी इनसे अच्छे से निपट लेती है। ये हमें बिल्कुल भी गवारा नहीं है। इस पर सफ़ाई देने के लिये हमने शरीफ को तुरंत बुला भेजा है। शरीफ को साफ़ तौर पे समझा दिया गया है कि अब पीएम की कुर्सी पे बैठ के भजिये तलना बंद करे और फ़ौरन कश्मीर में बढ़िया इमदाद के साथ अच्छे बड़े पत्थर भिजवाओ। नहीं तो उसके सारे फॉरेन टूर कैंसिल कर दिए जायेंगे। और बात ज़्यादा आगे बढ़ी तो उसे कुर्सी से हटाने में हमारी आर्मी को ज़रा भी वक़्त नहीं लगेगा।”

सूत्रों के अनुसार इस वक्तव्य में दी गयी फॉरेन टूर कैंसिल करने की धमकी ने नवाज़ शरीफ पर अपना गहरा असर छोड़ा है। नतीजतन पाकिस्तानी इम्पोर्ट एक्सपोर्ट मिनिस्ट्री ने तुरंत चीन से डेढ़ लाख मीट्रिक टन बड़े पत्थर इम्पोर्ट करने का ऑर्डर दे दिया है। हमेशा की तरह इन इम्पोर्टेड पत्थरों की कीमत पाकिस्तान के फ़ूड बजट में से ही निकाली जाएगी। सूत्रों के अनुसार चार किलो आटे के बजाय एक बढ़िया दो सौ ग्राम का स्टेलेगटाइट पत्थर खरीदा जा सकता है, जो कि पचास मीटर की दूरी तक मार करने की क्षमता रखता है। जल्द ही इंडियन मीडिया के कुछ न्यूज़ चैनल इन पत्थरों पर कुछ एक्सक्लूसिव कार्यक्रम दिखाने का प्लान भी बना रहे हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें