Sunday, 25th February, 2018

चलते चलते

NO, Mr मोदी! ये Good morning वाले मैसेज हैं दुनिया के सामने सबसे बड़ी चुनौती!

24, Jan 2018 By Ritesh Sinha

दावोस. प्रधानमंत्री मोदी ने दावोस में वर्ल्ड इकॉनॉमिक फ़ोरम (WEF) के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए लगभग एक घंटे का लंबा-चौड़ा भाषण दिया। लेकिन दुःख की बात यह रही कि उन्होंने ‘Good Morning’ मैसेज के खिलाफ एक शब्द भी नहीं बोला। अपने भाषण में उन्होंने आतंकवाद, जलवायु परिवर्तन और सरंक्षणवाद को तीन सबसे बड़ी चुनौती बताया, जो सरासर झूठ है। वर्तमान में सबसे बड़ी समस्या, व्हाट्सएप्प के वे मैसेज हैं, जो सुबह-सुबह बिना बुलाए चले आते हैं। So, Mr Prime minister! you’re wrong!

good morning1
सुबह-सुबह दिखने वाला सबसे भयानक सीन

यह समस्या इतनी भयानक हो चुकी है कि अब तो गूगल का डेटा सेंटर भी इसे संभाल नहीं पा रहा है, जहाँ से ये सारे मैसेजेस डाउनलोड किए जाते हैं और व्हॉट्सएप्प पर ठेल दिए जाते हैं। अब तो उन्हें इन फोटोज को डिलीट करने के लिए एक अलग एप्प बनाना पड़ रहा है। इतना सब जानते हुए भी मोदी जी ने इसका जिक्र तक नहीं किया। इससे पता चलता है कि आजकल के नेता जमीन से कट चुके हैं, देश में क्या हो रहा है उन्हें पता ही नही है!

आजकल हर ग्रुप में ‘गुड मॉर्निंग’ मैसेज वाले माफिया सक्रिय हैं, जो हर सुबह फोटो के ऊपर गुड मॉर्निंग लिखकर भेजते रहते हैं। “मत भेजा करो यार!” -अगर किसी ने ऐसा कह दिया तो ये आग बबूला हो जाते हैं और करणी सेना की तरह धमकी देने लगते हैं। व्हॉट्सएप्प पर इनका राज चलता है। और उधर प्रधानमंत्री जी कह रहे हैं कि क्लाइमेट चेंज सबसे बड़ी चुनौती है!

दिल्ली यूनिवर्सिटी में राजनीति शास्त्र के प्रोफ़ेसर ज्ञानचंद तिवारी ने बताया कि “सच में मोदी जी का भाषण सुन के मुझे बहुत निराशा हुई! एक घंटे तक बोलने के बावजूद उन्होंने इस मुद्दे पर मुँह तक नहीं खोला! माना कि आतंकवाद और क्लाइमेट चेंज भी एक बड़ी समस्या हैं, लेकिन इन सबको कुछ दिन झेला जा सकता है लेकिन ये मैसेजेस नहीं झेले जाते! अगर वे पांच मिनट के लिए भी इस बारे में बोलते तो मुझे तसल्ली हो जाती!” -कहते हुए प्रोफ़ेसर साब का गला भर आया।

उधर, विपक्ष ने भी इस मुद्दे पर मोदी जी को आड़े हाथों लिया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी का कहना है कि अगर मैं प्रधानमंत्री होता तो ऐसे मैसेजेस पर तुरंत बैन लगा देता। लेकिन मोदी जी ने इसका जिक्र भी नहीं किया।



ऐसी अन्य ख़बरें