Saturday, 21st October, 2017

चलते चलते

चांद पर मिला गुटखे का पाउच; बीबीसी का दावा- "कोई भारतीय भी पहुंच चुका है चांद पर"

22, Feb 2016 By बगुला भगत

लंदन. अगर आपको अचानक पता चले कि किसी भारतीय इंसान के क़दम भी चांद पर पड़ चुके हैं तो आपको कैसा लगेगा। जी हां, यह सच है! बीबीसी (ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन) ने दावा किया है कि “एक भारतीय व्यक्ति भी चांद पर पहुंच चुका है, जिसके बारे में अभी तक किसी को पता नहीं था।”

gutkha 6
भारतीय बंदे की पीक से ‘लाल ग्रह’ जैसा दिख रहा है चांद

बीबीसी ने एक वीडियो जारी किया है, जिसमें वो सारा सामान दिखायी दे रहा है, जिसे अंतरिक्ष यात्री चांद पर छोड़कर आये हैं। इस सामान में अमेरिकी झंडों और कैमरों के अलावा गुटखे का एक खाली पाउच भी नज़र आ रहा है। उसके पास ही चिप्स के दो पैकेट और कोल्ड ड्रिंक की एक खाली बोतल भी पड़ी है।

इस सामान के आधार पर ही बीबीसी दावा कर रहा है कि “इंडिया का भी कोई ना कोई बंदा चांद पर ज़रूर पहुंचा है।” फिलहाल नासा के वैज्ञानिक उस पाउच की गहराई से जांच कर रहे हैं ताकि उस बंदे की ‘चांद-यात्रा’ बारे में सटीक जानकारी मिल सके।

वैसे, बेशक अभी तक यह स्पष्ट ना हो पाया हो कि वह खाली पाउच है किस कंपनी का लेकिन गुटखा कंपनियों में उसे अपना बताने की होड़ मच गयी है। माणिकचंद गुटखा के सीईओ सुंदर पिचकारी का कहना है कि “इतनी ऊंची पसंद तो हमारा गुटखा खाने वाले लोगों की ही होती है।”

धर्मपाल सत्यपाल लिमिटेड (डीएस) ने तो अपना नया स्लोगन भी जारी कर दिया है- “मुंह में रजनीगंधा, क़दमों में चांद!”

इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके जानकारी दी है कि वो अगले रविवार को रेडियो पर ‘मन की बात’ के बजाय ‘मुंह की बात’ प्रोग्राम में इस उपलब्धि पर राष्ट्र को संबोधित करेंगे।

उधर, इस ख़बर के फैलते ही कुछ हिंदी न्यूज़ चैनलों के रिपोर्टर अंतरिक्ष यात्री राकेश शर्मा के घर पहुंच गये और सवाल पूछने लगे कि “सर, कहीं ऐसा तो नहीं कि आपने ही वो गुटखा खाकर वहां फेंका हो?” इस पर राकेश ने उन्हें सफ़ाई दी कि “भैय्या, मैं अंतरिक्ष में गया था ना कि चांद पर!”

“तो हो सकता है कि आपने उसे अंतरिक्ष में फेंका हो और वो उड़ता-उड़ता चांद पर पहुंच गया हो!” –एक रिपोर्टर के गुटखा भरे मुंह से यह सवाल सुनते ही राकेश गश खाकर गिर पड़े। अंतिम समाचार मिलने तक उन्हें होश नहीं आ पाया था।



ऐसी अन्य ख़बरें