Tuesday, 25th July, 2017
चलते चलते

UC ब्राउज़र यूज करने वाला युवक, पिछले एक साल से कर रहा था चाइनीज सामान का विरोध

14, Jul 2017 By Ritesh Sinha

रायपुर. ‘दिया तले अँधेरा’ किसे कहते हैं, यह कोई भास्कर नगर में रहने वाले शशांक अवस्थी से पूछे। शशांक, पिछले एक साल से चाइनीज सामानों के खिलाफ अभियान चला रहा है। वो ऐसे अभियानों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेता और व्हॉट्सएप मैसेज बनाकर अपने दोस्तों को भेजता। चीनी सामान के खिलाफ ट्वीट करता, और हर साल होली में चाइनीज सामानों की होली भी जलाता। लेकिन पिछले दिनों वह खुद चीनी माल यूज करते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया।

UC Browser
सच्चाई पता चलने पर मुँह छुपाता शशांक

हुआ यूँ कि, शशांक अपने दोस्तों के साथ गप्पे मार रहा था, तभी उसके एक दोस्त लोचन ने कहा कि “यार! मैं बहुत देर से एक वेबसाइट खोल रहा हूँ, लेकिन खुल ही नहीं रहा, सर्वर डाउन है क्या?” इतना सुनते ही शशांक ने अपना मोबाइल जेब से निकाला और वेबसाइट खोलने लगा। “नहीं तो! मेरे मोबाइल में तो मस्त चल रहा है! UC में खोलकर देख, मैं तो वही यूज करता हूँ!” -शशांक ने अभी इतना कहा ही था कि उसके सभी दोस्त उसे आँखें फाड़-फाड़कर देखने लगे।

“क्या? इसका मतलब तू UC यूज करता है? फिर ‘चीन को सबक सिखाना है!’ वाला ड्रामा क्यों करता है साले!” -कहते हुए उसके दोस्तों ने उस पर हाथ साफ़ करना शुरू कर दिया। दस मिनट तक बेदर्दी से धोने के बाद उसके एक दोस्त ने कहा “साले! जब यही सब करना था तो हमें ऐसे मैसेज भेजकर-भेजकर परेशान क्यों करता था? जब देखो तब, बस, वही चीनी सामान का विरोध, तो फिर UC क्या तेरे नानाजी के घर से आई है?” -कहते हुए उन्होंने शशांक को फिर से रगड़ना शुरू कर दिया।

आधे घंटे तक रगड़ने के बाद कहीं जाकर उसके दोस्तों का गुस्सा शांत हुआ। फिर उन्होंने शशांक के बाल-वाल ठीक किए और पानी-वानी पिलाया। “यार, मुझे सच में पता नहीं था कि यूसी ब्राउज़र चाइनीज है, वरना मैं तो क्रोम ही यूज करता, भले ही एक वेबसाइट खोलने में एक घंटा लग जाता, पर मैं क्रोम ही यूज करता! अब आगे से मैं चाईनीज सामान वाला कोई मैसेज नहीं भेजूंगा, बाई गॉड!” -शशांक ने माफ़ी मांगते हुए कहा। थोड़ी देर में ही उनके बीच का माहौल नॉर्मल हो गया, और वे सभी फिर से हंस-हंसकर बातें करने लगे। इस घटना के दो दिन बाद, शशांक कल एक रेस्टारेंट में खाना खाने गया। जब वेटर ने उससे पूछा कि, “सर आप क्या लेंगे?” तो उसने वेटर से कहा- “चाईनीज में जो भी है, ले आओ! जल्दी!”



ऐसी अन्य ख़बरें