Thursday, 21st September, 2017

चलते चलते

अब कस्टमर केयर एग्जीक्यूटिव की लोकेशन भी दिखेगी मोबाइल पर, कॉल सेंटर्स में दहशत फैली

29, Jun 2017 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. जब आप किसी कंपनी के कस्टमर केयर एग्जीक्यूटिव से बात करने के लिये कॉल करते हैं, तो अक्सर 20 बार ट्राई करने के बाद भी आपकी बात नहीं हो पाती। आपके मोबाइल पर यही आवाज़ आती रहती है- “हमारे सभी कस्टमर केयर प्रतिनिधि दूसरी कॉल पर व्यस्त हैं। कृपया लाइन चालू रखें…।” अगर क़िस्मत से आपकी बात हो भी जाती है, तो वो आपको होल्ड कराकर ग़ायब हो जाता है। तब आपके मन में यही आता होगा कि “अगर मुझे पता होता कि ये कहाँ बैठा है, तो अभी जाकर साले का मुँह तोड़ देता!”

customer care executives3
“भाईसाब, मैं नोएडा में नहीं, बैंगलोर में बैठा हूं!”

तो चिंता मत कीजिये! आपकी यह मनोकामना अब जल्द ही पूरी होने वाली है। दूरसंचार मंत्रालय ने एलान किया है कि एक जुलाई से सभी कंपनियों के कस्टमर केयर एग्जीक्यूटिव्ज की लोकेशन मोबाइल फ़ोन पर दिखाई देगी। इसके साथ ही, आपकी लोकेशन से उस कंपनी के कॉल सेंटर तक कैसे पहुँचा जा सकता है, उस रास्ते का मैप भी मोबाइल की स्क्रीन पर आयेगा। आप वहाँ पहुँचकर अपना हिसाब बराबर कर सकते हैं।

उधर, सरकार के इस फ़ैसले से कॉल सेंटर समुदाय में हड़कंप मच गया है। कॉल सेंटर कर्मियों के जत्थे के जत्थे बैंगलोर, गुरुग्राम और नोएडा जैसे शहरों से पलायन कर रहे हैं। उन्हें डर लग रहा है कि अब कस्टमर सीधे हमारे ऑफ़िस पे आ चढ़ेंगे और हमें खर्चा-पानी देने लगेंगे।

एक जानी-मानी मोबाइल कंपनी के कॉल सेंटर में काम करने वाले विशाल ने अपना रेजिग्नेशन लैटर टाइप करते हुए कहा, “फ़ोन पे तो कोई हमारा कुछ नहीं बिगाड़ पाता था। ज़्यादा से ज़्यादा वे लोग गाली देते थे और थक-हारकर अपने घर में बैठे रहते थे। लेकिन अब तो कुटाई का रिस्ट हो गया भाईसाब!”

विशाल यह सब बता ही रहा था कि तभी उसकी बगल में बैठे मोहित के हेडफ़ोन पर किसी कस्टमर के चिल्लाने की आवाज़ आयी- “मुझे तेरी लोकेशन दिख रही है साले! बैठा है नोएडा में और बता रहा है बंगलौर! एक मिनट रुक, अभी आ रहा हूँ!” यह सुनते ही मोहित अपनी कुर्सी छोड़कर भाग गया।



ऐसी अन्य ख़बरें