Thursday, 18th January, 2018

चलते चलते

केपटाउनः पहला टेस्ट हारने के बाद टीम इंडिया के ड्रेसिंग रूम का विवरण

08, Jan 2018 By बगुला भगत

केप टाउन. दुनिया की नंबर वन टेस्ट टीम के बल्लेबाज़ों को एक बार फिर विदेशी धरती पर दस्त लग गये और वे चार दिन में ही मैच हार गये। ड्रेसिंग रूम में पहुँचते ही वे हार का ठीकरा एक-दूसरे के सर फोड़ने लगे। ये सारी घटना फ़ेकिंग न्यूज़ के ख़ुफ़िया कैमरे में रिकॉर्ड हो गयी। पढ़िये पूरा ब्यौरा-

team-india-cape-town-test
विदेशी पिच पे फिर लग गये दस्त

(राहुल और रहाणे आते ही सबको ताने मारना शुरु कर देते हैं, कोच शास्त्री अंटी में कुछ दबाये चुपके से बाथरूम में चले जाते हैं)

रहाणे (ताली बजाते हुए): शाबाश….शाबाश!

राहुलः तीन दिन में ही आ गये शेर!

रहाणेः और शर्मा जी, 200 तो आप अकेले ही बना लेते हो…यहाँ पे क्या हो गया?

राहुल (मुरली विजय की ओर देखते हुए): पिच में उछाल देखते ही मुरली बज गयी…क्यों भाईसाब?

मुरलीः ज़्यादा मत उछलो! तुम होते तो तुम भी इतने ही बनाते। तुम भी इंडियन ही हो बेटा!

शमी (रेडबुल खोलते हुए): भई, हमने तो अपना काम कर दिया था।

पुजाराः तो थोड़े से रन भी बना देते।

बुमराहः अच्छा! तो अब रन भी बॉलर ही बनायें?  (सारे बॉलर एक साथ मिल जाते हैं)

अश्विनः चेतू भैय्या! ख़ुद भी कुछ कर लिया करो, बस बैट ले के खड़े हो जाते हो…दीवार- पार्ट 2…

भुवीः जैसे पिच पे खेलने नहीं, उस पे क़ब्ज़ा करने आये हों! कछुआ छाप अगरबत्ती!

पुजारा (कोहली की तरफ़ देखते हुए): औरों ने कौन सा तीर मार लिया…

शिखरः वो…कैप्टन साब की नयी-नयी शादी हुई है ना, इस वजह से…

भुवीः शादी तो हमारी भी हुई है…हम तो विकेट भी ले रहे हैं और पिच पे भी बैट्समैनों से ज़्यादा टैम बिता रे हैं।

शिखरः कैप्टन साब आजकल दूसरी पिच पे लंबी बारी खेल रहे हैं! (कहकर खीं…खीं…खीं करने लगता है)

विराटः साले गुटखे के नाम वाले! दो दिन पहले तेरा बाप मार रहा था सेंचुरी पे सेंचुरी!

रोहितः इंडिया में तो हम भी मार रहे थे भाई!

विराटः तो तुझे कुछ कह रहा हूँ क्या मैं?

रोहित (पाँड्या की ओर इशारा करते हुए): इसने हरवाया है साले ने!

पाँड्या (आँख फाड़ते हुए): हैं?

कोहलीः हैं क्या! हम इस चक्कर में आउट हो गये कि बाद में तू तो बना ही देगा।

रोहितः बस पहली पारी में ही 93 बना के रह गया और हम सोचते रहे कि…

पांड्याः मैं जा रहा हूँ पैंचो! अब और नहीं रुकूँगा यहाँ…

शिखर (टॉपिक चेंज करते हुए): वैसे यार, अगर कल बारिश ना हुई होती तो दो दिन एक्स्ट्रा मिल जाते घूमने को। है ना?

विराटः सालो! कोई घूमने नहीं जायेगा। सब नेट प्रैक्टिस करेंगे।

भुवीः बहुत अच्छे! अनुष्का भाभी चली गयी तो अब हम भी शॉपिंग-वॉपिंग ना करें? रंडवे हैं क्या हम!

शिखरः अनुष्का होती ना…तो ये अब तक दिखाई भी ना देता यहाँ!

(तभी बाथरूम में बोतल फूटने की आवाज़ आती है और साथ में किसी के चिल्लाने की)

कोहलीः श्श्श्श! लगता है कोच साब ‘टाइट’ हो गये सालो! चलो जल्दी से निकल लो!

(सारे खिलाड़ी फुर्ती से निकल जाते हैं, पीछे किसी के गिरने की और बड़बड़ाने की आवाज़ आती है- “ट्रेसर बुलेट की तरह कहाँ जा रहे हो सालो! भूल गये…डॉक्टर व्हाट ऑर्डर्ड…ऑल थ्री रिजल्ट्स वर पॉसिबल…”)



ऐसी अन्य ख़बरें