Wednesday, 23rd August, 2017

चलते चलते

अब केदार जाधव को लोग कहने लगे हैं 'टैलेंटेड', रात भर नींद नहीं आती लड़के को

10, Apr 2017 By Ritesh Sinha

बैगलोर. पिछले कुछ दिनों से केदार जाधव, क्रिकेट प्रेमियों और एक्सपर्ट्स की जुबान पर छाये हुए हैं। जिसे देखो वो ही टीवी पर केदार जाधव को ‘टैलेंटेड’ साबित करने में जुटा हुआ है। लेकिन जब से लोगों ने उन्हें टैलेंटेड कहना शुरू किया है, जाधव को ठीक से नींद नहीं आ रही है।

kedar-jadhav
“मैंने आप लोगों का क्या बिगाड़ा है भाई?”

वे रात भर करवट बदलते रहते हैं, और उन्हें बुरे-बुरे ख्याल आते हैं। दरअसल, उन्हें डर है कि कहीं उनकी हालत भी विश्व प्रसिद्ध टैलेंटेड खिलाड़ी आदरणीय रोहित शर्मा जी जैसी ना हो जाये। जिनका अपने एक्स्ट्रा-ऑर्डनरी टैलेंट की वजह से क्रिकेट करियर ही ख़तरे में पड़ गया। हालत ये है कि अब तो केदार ‘टैलेंट’ शब्द से भी डरने लगे हैं।

फेकिंग न्यूज़ से बातचीत में उन्होंने अपना दुखड़ा सुनाते हुए कहा कि “क्या बताऊँ! मेरी हालत तो फुल टॉस गेंद की तरह हो गई है, जिसे देखो वो मुझे टैलेंटेड बोलकर चौका मारकर चला जाता है। कुछ साल पहले शर्मा जी के लड़के को पकाया, अब मुझे टैलेंटेड कह के चने के झाड़ पे चढ़ा रहे हैं। पता नहीं, टैलेंटेड घोषित होने के बाद मैं टीम में रह भी पाऊंगा या नहीं। लगता है मुझे अगले मैच में जीरो पे आउट होना पड़ेगा, लोग तभी मेरा पीछा छोड़ेंगे।”

“लेकिन टैलेंटेड कहकर लोग आपकी तारीफ़ ही तो कर रहे हैं, फिर आप खुश क्यूं नहीं हैं?” यह सुनकर वो बोले, “क्या ख़ाक तारीफ़ करते हैं। मुझे सब पता है, यही लोग कुछ दिन बाद मेरा मज़ाक उड़ाएंगे। जब मैं जल्दी आउट हो जाऊंगा तो ट्विटर और व्हॉट्सएप मेरे जोक्स से पट जायेंगे। इसलिए, प्लीज़…कुछ भी कह लो, बस टैलेंटेड मत कहो!”

वहीं, रवि शास्त्री ने भी केदार जाधव का समर्थन किया है और कहा है कि “किसी प्लेयर को बार-बार टैलेंटेड बोलकर उस पे ज्यादा बोझ नहीं डालना चाहिए। इससे ध्यान भटकता है और बंदे के टैलेंट में कमी आ जाती है। अब मुझे ही ले लो! मैं एक ही बात बार-बार बिल्कुल नहीं कहता।” उधर, उस बंदे की तलाश अभी भी जारी है, जिसने सबसे पहले रोहित शर्मा को टैलेंटेड कहा था।



ऐसी अन्य ख़बरें