Monday, 23rd April, 2018

चलते चलते

जयदेव उनादकट ने अपने बॉलिंग कोच को भगाया, बदले में रख लिया फाइनेंशियल कोच

31, Jan 2018 By Ritesh Sinha

पोरबन्दर. IPL 2018 की नीलामी में 11.50 करोड़ पाने के बाद जयदेव उनादकट ने एक अहम फैसला लिया है। उन्होंने अपने बॉलिंग कोच की छुट्टी कर दी है और उसके बदले में एक सीए को गोद ले लिया है। जयदेव को लगता है कि उन्हें अब गेंदबाजी कोच से ज़्यादा पैसे-धेले का हिसाब-किताब रखने वाले बंदे की ज़रूरत है।

jaidev-unadkat
कोच को हटाने के बाद ख़ुश नज़र आ रहे जयदेव

फ़ेकिंग न्यूज़ से बातचीत में उनादकट ने बताया कि “देखिए! वैसे तो कोच साब ने ही मुझे गेंदबाज़ी करना सिखाया है, लेकिन अब हमारे रास्ते अलग होने का टाइम आ गया है! वैसे भी, अब मैं बिना उनके भी अच्छी गेंदबाज़ी कर सकता हूँ लेकिन सीए के बिना तो मेरा अब एक दिन भी रह पाना मुश्किल है! इसीलिए मैंने कोच साब को बाहर का रास्ता दिखा दिया है और बदले में एक सीए को गोद ले लिया है, जो मेरे पैसों का हिसाब-किताब रखेगा!”

“जब मैंने सुना कि मुझे 11.50 करोड़ मिले हैं, तो मुझे समझ ही नहीं आया कि मैं क्या करूँ? तभी मेरे दोस्तों ने बताया कि ‘अबे! एक सीए रख ले! पैसे मैनेज करने में आसानी होगी!’ तो मैंने उनकी बात मान ली और गेंदबाजी कोच को आउटस्विंग कर दिया और सीए को इनस्विंग करा दिया! अच्छा किया कि नई?” -जयदेव ने हँसते हुए पूछा।

“वैसे भी, मेरा नया ‘सीए’ मेरा बचपन का दोस्त है, यहीं दो गली छोड़ के उसका मकान है!” -उनादकट ने आगे बताया। वहीँ, गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने उनादकट को सौराष्ट्र का ‘गौरव’ घोषित कर दिया है।

उधर, यूपी-बिहार के ‘मम्मी-पापा एवं अभिभावक संघ’ ने उनादकट के माता-पिता की जमकर आलोचना की है।  उनका कहना है कि जो लड़का दसवीं में 91% और बारहवीं में 86% लाया था, उसे IAS/IPS या इंजीनियर बनाने के बजाय क्रिकेट में डालने के लिए हम उनकी कड़ी निंदा करते हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें