Wednesday, 13th December, 2017

चलते चलते

मुंबई इंडियंस से हार के बाद ड्रेसिंग रूम में टीम पर बरस पड़े कोहली, पढ़िये पूरा ब्यौराः

02, May 2017 By बगुला भगत

मुंबई. आईपीएल में प्ले-ऑफ़ की दौड़ से बाहर हो चुकी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम कल मुंबई इंडियंस से फिर हार गयी। हार के बाद आरसीबी के प्लेयर ड्रेसिंग रूम में आपस में ही भिड़ गये। यह पूरी घटना फ़ेकिंग न्यूज़ के ख़ुफ़िया कैमरे में रिकॉर्ड हो गयी। पढ़िये पूरा ब्यौराः

(कप्तान कोहली बड़बड़ाते हुए ड्रेसिंग रूम में पहुंचते हैं और 10 मिनट तक सबकी MC…BC करते रहते हैं)

Kohli8
स्टुअर्ट बिन्नी पर चिल्लाते विराट कोहली

जाधवः भाई, मेरा नाम क्यूँ ले रहे हो। मैंने तो ठीक-ठाक रन बनाये हैं!

कोहलीः कितने रन बना दिये तूने, जो इतना फैल रहा है। हैं?

जाधवः टीम में सबसे ज़्यादा मेरे ही हैं, आपसे भी ज़्यादा!

कोहलीः वो तो साले मैं पहले तीन मैचों में खेला नहीं था, नहीं तो…!

बिन्नीः भाई, अगर 25 अप्रैल को बारिश ना हुई होती ना, तो मैं भी हैदराबाद को धो के रख देता!

कोहलीः तू रहन ही दे!

अरविंदः मेरी समझ में ये नहीं आता…इस चू@#$% को खिलाते क्यूँ हो? साले को 20 रन बनाने में तो दस्त लग जाते हैं!

बिन्नीः जितनी कैपेसिटी है, उतने बना देता हूँ।

मंदीपः भाई, आप हमें गालियाँ दे रहे हो और इन विदेशियों से कुछ नहीं कह रहे! सबसे ज़्यादा काँड तो इन्होंने ही करवाया है।

नेगीः हाँ, ये जो साँड खड़ा है ना…!

वॉटसनः साँड किसको बोल रहा है बे?

नेगीः अबे, ये तो साला सब समझ रहा है!

सचिन बेबी (हँसते हुए): और गेल का निकल गया तेल।

गेल (बेबी को खींचते हुए): चल, मेरे साथ डिनर पे चल…तुझे तेल दिखाता हूँ बेबी!

(बेबी हाथ छुड़ाकर भाग जाता है)

चहलः मैं छोड़ूंगा नहीं विराट भाई! अगले मैच में इनकी…!

कोहली (पुचकारकर सर पे हाथ फिराते हुए): ज़्यादा मत फैल बाहुबली! बॉडी का कोई पार्ट अलग हो गया तो हॉस्पिटल ले जाना पड़ेगा।

चहलः मैंने सबसे ज़्यादा विकेट लिये हैं और आप मेरी ही ले रहे हो!

वॉटसनः वो तो तुम्हारे कुपोषण पे तरस खाकर दे देते हैं कि ले हमारा विकेट खा ले और थोड़ी बॉडी बना ले।

कोहली (चिल्लाते हुए): चुप हो जाओ सब!

(ड्रेसिंग रूम में सन्नाटा छा जाता है)

कोहलीः एक मई को मुंबई में मैच रखवाया था कि मैच जीतकर उसे बड्डे गिफ़्ट दूंगा। तुम चू@#$% ने सब गुड़-गोबर करवा दिया।

मंदीपः किसका बड्डे भाई?

कोहलीः तेरी भा…छोड़ो! किसी का नहीं!

जाधवः आप इतने परेशान क्यूँ हो रहे हो भाई! हमारे पांच प्वॉइन्ट हैं और दिल्ली के तो चार ही हैं।

कोहलीः यही तो टेंशन है कि उनके चार हैं और हमारे पांच!

जाधवः मतलब भाई?

कोहलीः मतलब ये कि या तो सबसे ऊपर रहो या फिर सबसे नीचे। नहीं तो कोई नोटिस भी नहीं करता।

बिन्नीः टेंशन मत लो भाई, अभी तीन मैच और बचे हैं हमारे।

बेबीः हां भाई, अगले मैच में हम दिल्ली से भी नीचे आ जायेंगे।

कोहली (घड़ी में टाइम देखते हुए): ठीक है, मुझे कहीं निकलना है अभी। तब तक तुम लोग आउट होने की और कैच छोड़ने की प्रैक्टिस शुरु कर दो।

(यह कहकर वो मोबाइल पर “आ रहा हूँ जानू” कहते हुए ड्रेसिंग रूम से निकल जाते हैं और बाक़ी प्लेयर पार्टी की तैयारी करने लगते हैं )



ऐसी अन्य ख़बरें