Monday, 26th June, 2017
चलते चलते

श्रीलंका से हार के बाद ड्रेसिंग रूम में कैसे भिड़े टीम इंडिया के बॉलर-बैट्समैन, पढ़िए पूरा विवरण

09, Jun 2017 By बगुला भगत

लंदन. चैंपियंस ट्रॉफ़ी में श्रीलंका से दुर्गति कराने के बाद टीम इंडिया के धुरंधर ड्रेसिंग रूम में पहुंचते ही एक-दूसरे से भिड़ गये। कोच कुंबले और कप्तान कोहली की कलह भी खुलकर सामने आ गयी। यह सारी घटना फ़ेकिंग न्यूज़ के ख़ुफ़िया कैमरे में रिकॉर्ड हो गयी। पढ़िये पूरा ब्यौराः

kohli-dhoni
धोनी को बाहर का रास्ता दिखाते कोहली

(विराट ग़ुस्से में सारे खिलाड़ियों की माँ-बहन करते हुए ड्रेसिंग रूम में पहुंचते हैं।)

विराटः ओए जाधव! बीयर वापस रख दे वहीं पे…सा@#$! ये जीतने पे पीने को मंगाई थीं ना कि हारने पे!

(जाधव घबराकर बीयर वापस फ्रिज में रख देता है)

विराट (जड़ेजा और उमेश की ओर घूरते हुए): साढ़े तीन सौ का टोटल भी डिफ़ेन्ड नहीं होता सालों से…और बीयर पीयेंगे!

जड़ेजाः और भाई आप जो अंडा हग के आये पिच पे, उसका कुछ नहीं!

उमेशः हाँ भाई, पूरे मैच में आप ही ज़ीरो पे आउट हुए हो!

(विराट मोबाइल देखने का बहाना करने लगते हैं)

शिखरः दो-चार साल में एक-आध सेंचुरी लगती हैं तो साले ये बॉलर…

रोहितः इनसे तो चौंकपुर के बॉलर भी अच्छे हैं।

विराटः टीम में 6-6 बॉलर ले रक्खे हैं, फिर भी मुझे बॉलिंग करनी पड़ी।

शिखर (धोनी की ओर देखते हुए): इसीलिये मैं अंकल की तरह ज़्यादा रन नहीं बनाता…

धोनीः ओए गुटखे के नाम वाले! अंकल किसको बोल रहा है बे?

युवराजः सही तो बोल रहा है। ये जो तुम लास्ट के ओवर में दो छक्के मारते हो, उन्हें थोड़ा पहले मार लिया करो।

धोनीः और तूने कौन सा तीर मार लिया, तीन ओवर सटक कर 7 रन बनाये!

जड़ेजाः सही कह रहे हो धोनी भाई!

विराट (जड़ेजा का गिरेबान पकड़ते हुए): तू साले धोनी को बीच में क्यूँ लाता है बात-बात पे! कैप्टन ये है कि मैं?

जड़ेजाः देख लो कोच साब!

युवराजः कोच साब को तो सीवी भेजने से ही फ़ुर्सत नहीं है, ये क्या घंटा देखेंगे!

कुंबलेः अब तुम्हारी जगह पिच पे जाके भी मैं ही खेलूँ क्या? मेरा तो जबड़ा टूट गया था, फिर भी हार नहीं मानी!

विराटः अब 50 साल तक उस जबड़े के ही किस्से सुनाते रहना। यहां गाँ* टूटी पड़ी है, फिर भी कुछ नहीं कह रहे!

रोहित (बीच में आते हुए): ये सब छोड़ो! अब अगले मैच के बारे में सोचो!

पांड्याः हाँ भाई! अब साले वो साउथ अफ्रीका भी ना हरा दें!

विराटः चिंता मत करो। बारिश हो जायेगी और हम सेमीफ़ाइनल में पहुंच जायेंगे।

रोहितः और नहीं हुई तो?

विराटः होगी कैसे नहीं!

भुवीः लेकिन भाई, अगर नहीं हुई तो क्या करेंगे?

विराटः हवन करेंगे…हवन करेंगे…हवन करेंगे!

धोनीः हाँ, चलो हवन करते हैं।

(इसके बाद जाधव पंडिज्जी को बुलाने चला जाता है, बुमराह और पांड्या घी-सामग्री लेने चले जाते हैं और बाक़ी सब लॉबी में हवन-कुंड बनाने लगते हैं)



ऐसी अन्य ख़बरें