Monday, 26th June, 2017
चलते चलते

पाकिस्तान को इंग्लैंड से सेमीफ़ाइनल जीतना चाहिये या नहीं, पाक संसद करेगी तय

13, Jun 2017 By बगुला भगत

कार्डिफ़/इस्लामाबाद. श्रीलंका को हराकर पाकिस्तान चैंपियंस ट्रॉफ़ी के सेमीफ़ाइनल में तो पहुंच गया है लेकिन उसकी टीम जश्न मनाने के बजाय टेंशन में आ गयी है। टीम के प्लेयर्स को अभी से डर सता रहा है कि अगर फ़ाइनल में इंडियन टीम सामने आ गयी तो? इसलिये वो तय नहीं कर पा रहे हैं कि इंग्लैंड से सेमीफ़ाइनल खेलें या नहीं! पीसीबी ने अंतिम फ़ैसला प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ पर छोड़ दिया है। शरीफ़ ने आज संसद का विशेष अधिवेशन बुलाया है, जिसमें मैच खेलने के बारे में अंतिम निर्णय लिया जायेगा।

Pak Cricket Team3
श्रीलंका को हराने के बाद टेंशन में खड़े पाक खिलाड़ी

इस बीच, फ़ाइनल में भारत से संभावित हार का ख़ौफ़ पूरे पाकिस्तान में नज़र आ रहा है। टीम को इंग्लैंड से वापस बुलाने के लिये जगह-जगह प्रदर्शन हो रहे हैं। जमात-उद-दावा के मुखिया हाफ़िज़ सईद ने टीम को धमकी दी है कि अगर इंडिया से दोबारा हार गये तो पाकिस्तान में घुसने नहीं देंगे।

पूर्व राष्ट्रपति आसिफ़ अली ज़रदारी का भी मानना है इंडिया के हाथों डबल दुर्गति करवाने से अच्छा है कि हम सेमीफ़ाइनल ही ना खेलें और वापस लौट आयें! उन्होंने मांग की है कि “अगर हम सेमीफ़ाइनल खेलें भी तो इंग्लैंड से हार जायें और फ़ाइनल में होने वाली ज़लालत से ख़ुद को बचायें!”

वहीं दूसरी ओर, तहरीक़-ए-इंसाफ़ के चीफ़ इमरान ख़ान चाहते हैं कि टीम सेमीफ़ाइनल ज़रूर खेले और इंग्लैंड को हराकर हमें फ़ाइनल में इंडिया से भिड़ना चाहिये। इमरान का कहना है कि “ऐसे डर-डर के कब तक जीयेंगे! बार-बार खेलेगा पाकिस्तान तभी तो जीतेगा पाकिस्तान!”

इमरान ने इस ओवर कॉन्फिडेंस की वजह बताते हुए कहा कि “श्रीलंका को हराने के बाद पोस्ट मैच सेरेमनी में सरफ़राज़ अहमद ने पांच बार ‘ऑलमाइटी अल्लाह’ और दस बार ‘इंशा अल्लाह’ बोला। इसलिये अल्लाह अब पाकिस्तान के साथ है और उसे ही जिताएगा। इंशा अल्लाह!”

“लेकिन अगर अल्लाह पाकिस्तान के साथ रहता है तो फिर उस दिन इंडिया से क्यूँ नहीं जिताया उसने?” हमारी रिपोर्टर के इस सवाल पर इमरान ने कहा, “बीबी, अल्लाह उस दिन हमारी टीम को सबक सिखाना चाहता था, जो टीम ने सीख लिया है। अब तो टीम जीतेगी ही जीतेगी!”



ऐसी अन्य ख़बरें