Friday, 20th October, 2017

चलते चलते

युवक के पास गलती से आया 500 रु. का मनीआर्डर, पार्टी देकर खर्च कर दिए 1500 रुपये

11, Aug 2016 By Ritesh Sinha

पटना. एक दिन दोपहर के समय अशोक कुमार अपने घर में टीवी देख रहा था, तभी बाहर से किसी ने आवाज लगाई “अशोक कुमार है?” अशोक दौड़कर बाहर निकला तो देखा कि सामने पोस्टमैन खड़ा है। पोस्टमैन ने पूछा “क्या तुम ही अशोक कुमार हो?” अशोक ने झट से हाँ में सिर हिला दिया। “ये लो, तुम्हें 500 रूपए का मनीऑर्डर आया है” कहते हुए पोस्टमैन ने अशोक के हाथ में पांच सौ रूपए थमा दिये।

Daaru Party2
मनीऑर्डर की पार्टी करते अशोक और उसके दोस्त

पैसे पाकर अशोक ख़ुशी से पागल हो गया। साथ ही वो मन ही मन सोचने लगा कि “मुझ बेरोजगार निठल्ले आदमी को किस मूर्ख ने पैसे भेज दिए।” बताया जाता है कि अशोक के पूरे खानदान में किसी को आज तक एक रूपये का भी मनीआर्डर नहीं आया था।

जैसे ही यह बात अशोक के दोस्तों को पता चली, उन्होंने तुरंत अशोक को फोन लगाया और मनीआर्डर आने की ख़ुशी में उससे पार्टी मांगने लगे। अशोक ने भी जोश में आकर सारे दोस्तों को पार्टी का वादा कर दिया। शाम को ही सभी दोस्तों ने मिलकर जमकर पार्टी की। पार्टी में अशोक ने अपने दोस्तों को किसी चीज़ की कोई कमी नहीं होने दी।

अगली सुबह जब अशोक ने हिसाब लगाया तो पता चला कि 500 रूपए के मनीआर्डर की ख़ुशी में 1500 रूपए खर्च हो गये। अशोक हिसाब लगा ही रहा था कि फिर किसी ने आवाज लगायी- “अशोक घर पे है?” अशोक ने सोचा कि शायद एक और मनीआर्डर आया है, वो बिजली की गति से बाहर निकला। देखा तो सामने पोस्टमैन खड़ा था, उसने गुस्से में कहा “कल जो मैंने पांच सौ रूपए दिए थे, वो वापस करो! वो किसी और अशोक कुमार के हैं, गलती से मैंने तुम्हे दे दिये थे।” अशोक ने मुंह लटकाकर कहा- “वो तो मैंने कल रात पार्टी में उड़ा दिये, अब मेरे पास कोई पैसे नहीं हैं।” पोस्टमैन ने जब पुलिस की धमकी दी तो अशोक ने पोस्टमैन से वादा किया कि वो सौ-सौ रूपए की चार किश्त करके असली अशोक कुमार को उसके पैसे लौटा देगा।



ऐसी अन्य ख़बरें