Friday, 20th October, 2017

चलते चलते

दिनभर लड़कियों के मेक अप की बुराई करने वाला युवक ख़ुद फैसपैक लगाए पकड़ा गया

30, Aug 2016 By banneditqueen

भोपाल. सिस्को कम्पनी में काम करने वाले भरत दिनभर लड़कियों के मेक अप देखता रहता था। कौन सी लड़की ने कितना फाउन्डेशन लगाया है, कौन सी लड़की ने कौन सी लिपस्टिक लगाई है, कौन सी लड़की रोज़ मेक अप करती है और कौन सी दिन में कितनी बार टच अप कर के आती है। रोज़ाना लंच के टाइम उसकी कमेन्टरी चालू हो जाती, “देखना अब रूही वॉशरूम जाएगी और पूरे एक घंटे बाद बाहर आएगी फिर से मेक अप लगा के! शालिनी के चेहरे पे बड़े-बड़े दाग हैं पर वो मेक अप से छुपाती है।”

Facepack2
फेसपैक लगाकर खिसियाता भरत

ऑफिस मे उसके कुछ दोस्त उसकी इस आदत से चिढ़ते थे और कुछ इस के फैन भी थे। भरत मेक अप पर इतना ज्यादा ध्यान देता था कि उसे लड़कियों के फेवरेट लिपस्टिक्स के शेड्स भी पता होते थे। एक दिन भरत के चेहरे पर एक बड़ा सा पिम्पल हो गया। उसने कई दवाइयाँ लगाईं, पर ठीक नहीं हुआ। बहन ने उसे मुल्तानी मिट्टी का पैक लगाने को बोला पर उसने हँसते हुए ये कहकर टाल दिया कि ये लड़कियों वाले चोंचले मुझसे नहीं होते।

लेकिन रात में उसने गूगल पर चेक किया कि मुल्तानी मिट्टी से बुरे से बुरा पिम्पल भी ठीक हो सकता है। उसने सोचा आफिस जाने से पहले वह मुल्तानी मिट्टी लगा लेगा। उसने बिना पूरी जानकारी पढ़े पूरे चेहरे पर मुल्तानी मिट्टी लगा ली और ऑफिस के लिये निकल गया। ऑफिस पहुँचते-पहुँचते मिट्टी सूखने लगी और चेहरे पर साफ नज़र आने लगी। आते जाते लोग उसे घूर-घूर कर देखने लगे। ऑफिस में घुसते ही सब लोग उस पर हँसने लगे। भरत तुरंत वॉशरूम की तरफ भागा क्योंकि मिट्टी पूरी तरह से सूखी नहीं थी, उसे निकालने में बहुत दिक्कत हो रही थी। धोते समय उसकी पूरी शर्ट पर मुलतानी मिट्टी लग गयी। लोगों की नजरों से बचने के लिये वह चुपके से टॉयलेट में जाकर घुस गया। मन ही मन खुद को कोसने लगा कि यह शायद लड़कियों का मज़ाक उड़ाने का नतीजा है। उस दिन से उसने ठान ली कि कभी लड़कियों के मेक अप की बुराई नहीं करेगा।



ऐसी अन्य ख़बरें