Wednesday, 20th September, 2017

चलते चलते

"जो पहले खाना खाएगा वो राजा बनेगा" -कहकर फँसी मम्मी, अब चिंटू मांग रहा है PM पोस्ट

09, Apr 2017 By Ritesh Sinha

रायपुर. सरोजिनी नगर में रहने वाली ‘आहूजा फैमिली’ में उस समय कोहराम मच गया जब घर के चिराग ‘चिंटू’ ने अपने मम्मी-पापा से प्राइम-मिनिस्टर का पद मांगना शुरू कर दिया। दरअसल, इसमें चिंटू की भी कोई गलती नहीं है, बल्कि सारा किया-धरा उसकी मम्मी विनीता आहूजा का है। हुआ यूँ कि, कल चिंटू के घर बहुत सारे मेहमान आए हुए थे, जिनमें कुछ बच्चे भी शामिल थे। जब सभी मेहमानों को भोजन परोसा गया तो चिंटू भी उन्ही लोगों के साथ खाना खाने बैठ गया।

child
पीएम की पोस्ट के लिये मुंह फुलाये चिंटू

खाने की मेज पर चिंटू और उसके मेहमान दोस्त कार्टूनों और गेम की बातें ज्यादा कर रहे थे और खाना कम खा रहे थे। बड़े लोग पेट-पूजा करके उठ गए लेकिन बच्चों ने अभी आधा भी नहीं निपटाया। बीच-बीच में सभी बच्चों से जल्दी खाना ख़तम करने की अपील करते, लेकिन बच्चे अपनी स्पीड बढ़ाने को तैयार ही नहीं थे। यह देखकर चिंटू की मम्मी ने एलान कर दिया कि जो भी पहले खाना खाएगा वो ‘राजा’ बनेगा और जो बाद में खाएगा वो ‘कौआ’! बस, फिर क्या था चिंटू को ये ऑफर पसंद आ गया और उसने बुलेट ट्रेन की स्पीड में दो मिनट में ही अपना खाना ख़त्म कर दिया।

और खाना ख़त्म करते ही अपनी मम्मी से बोला- “मम्मी…मम्मी! मैंने सबसे पहले खाना ख़तम किया, अब बनाओ मुझे राजा! मोदी से बोलो कि रिजाइन करके अपना सिंहासन मुझे दे दे!” सारे मेहमान आंखे फाड़कर चिंटू का मुंह देखने लगे तो वो बोला- “मुझे पता है अब प्राइम मिनिस्टर ही राजा होता है।”

विनीता हंसते हुए बोली “बेटा! मैंने तो मज़ाक किया था!” यह सुनते ही चिंटू फैल गया और धम्म से फर्श पर बैठकर पैर पटकने लगा। “मुझे PM बनना है, मतलब बनना है। मैं कुछ नहीं जानता! नहीं बना सकती तो फिर प्रॉमिस क्यूं किया था?” -कहते हुए चिंटू ने पास में रखे रिमोट को उठाकर पटक दिया।

“लेकिन ऐसा तो हर मम्मी कहती है बेटा! तभी तो बच्चे जल्दी खाना खाते हैं!” -विनीता ने पुचकारते हुए कहा। “मुझे कुछ नहीं सुनना! अब PM पोस्ट मेरी है, उस मोदी की नहीं!” -यह कहकर वो भाँ-भाँ करके रोने लगा।

उधर, प्रधानमंत्री मोदी ने चिंटू के लिए अपना पद छोड़ने से साफ़ इंकार कर दिया है। उनका कहना है कि “अगर मैं ऐसे ही इस्तीफ़ा देने लगा तो मुझे तो हर घंटे इस्तीफ़ा देना पड़ेगा, क्योंकि इंडिया में तो आधे बच्चे ऐसा कहने पर ही खाना खाते हैं।” अपनी कुर्सी को बचाने के लिय उन्होंने बैट-बॉल, आइसक्रीम, खिलौने और ढेर सारी चॉकलेट्स चिंटू के घर भिजवाई हैं। लेकिन यह पक्का नहीं है कि वो इस ऑफ़र के बदले में पीएम पद को छोड़ेगा या नहीं!



ऐसी अन्य ख़बरें