Saturday, 24th June, 2017
चलते चलते

अब प्री स्कूल में एडमिशन के लिये ज़रूरी होगा बच्चों का मोबाइल फोन से खेलना ना आना

15, Dec 2016 By banneditqueen

दिल्ली. स्प्रिंगडेल्स प्री स्कूल इन दिनों काफी चर्चा में है। कारण है कि इस प्री स्कूल ने एडमिशन के लिये एक अनोखा तरीका निकाला है। माँ बाप अपने दो वर्षीय बच्चों को इस स्कूल में एडमिशन के लिये ए.बी.सी.डी. से लेकर पूरी एनसाइक्लोपीडिया तक याद करा रहे थे। गृहिणी ललिता ने बताया कि “ओ जी हम तो पिछले साल से हमारे मुनमुन को ट्विंकल ट्विंकल याद करा रहे हैं, इसने इतना जल्दी पिक अप किया कि अब तो इसे सारे कांटिनेन्ट्स, कंट्रीज़, कैपिटल्स तक याद हो गए हैं। मुनमुन.. अंकल को बोलीविया का कैपिटल तो बता (मुनमुन की तरफ इशारा करते हुए ललिता ने कहा)।

फोन का इस्तेमाल करती मुनमुन
फोन का इस्तेमाल करती मुनमुन

मुनमुन के जवाब देते ही ललिता ने आगे कहा “पड़ोस वाली हिमानी का बेटा मुनमुन से बड़ा है फिर भी उसे फेसबुक चलाना भी नहीं आता हमारी मुनमुन तो फेसबुक पर वाल पोस्ट भी कर लेती है। इतनी टैलेंटेड होने के बाद भी निकम्मों ने मेरी बेटी को एडमिशन नहीं दिया और हिमानी के बेटे को दे दिया।” इस खबर से हैरान फेकिंग न्यूज़ संवाद्दाता पोपट खुद अपने 5 वर्षीय बेटे को लेकर स्प्रिंगडेल्स पहुँच गए। वहाँ जाकर देखा तो इंटरव्यू लेने वाले पैनल ने एक भी सवाल नहीं पूछा पर बेटे के हाथ में फोन पकड़ा दिया। आदत से मजबूर बच्चे ने फोन से खेलना शुरू कर दिया।

अगले दिन पोपट को स्कूल से लेटर मिला कि उनके बेटे को एडमिशन नहीं मिलेगा। पोपट हैरान था कि “मेरा बेटा सभी बच्चों से बड़ा है तो ज़ाहिर है दिमाग भी ज्यादा है फिर भी एडमिशन क्यों नहीं मिला।” इस बात की तह तक जाने के लिये पोपट वापस स्कूल पहुँचे तो पता चला कि स्कूल के इंटर्व्यू को पास करने के लिये बच्चों का मोबाइल फोन का इस्तेमाल ना करना ज़रूरी था। प्रिंसिपल ने बताया कि “हमने उन्हीं बच्चों के सेलेक्ट किया जिन्होनें मोबाइल फोन में बिल्कुल भी दिलचस्पी नहीं दिखाई।” इस नए प्रयोग को अब सभी स्कूल अपना रहे हैं|



ऐसी अन्य ख़बरें