Sunday, 28th May, 2017
चलते चलते

टीचर को होमवर्क याद दिलाने पर होगी सज़ा, छात्र संगठन ने जारी किया फऱमान

11, May 2016 By banneditqueen

भोपाल. कैम्पियन इंटरनेशनल स्कूल के छात्र आदित्य शुक्ला की कल उनके साथियों ने जमकर पिटाई कर दी। इस मारपीट की वजह जानने के लिये फ़ेकिंग न्यूज़ की टीम आज सुबह उनके स्कूल जा पहुँची। पूछताछ करने पर पता चला कि स्कूल में आदित्य नाम के यूँ तो कई सारे छात्र हैं पर पिटने वाला आदित्य किताबी कीड़े के नाम से भी जाना जाता है।

Students
होमवर्क करने पर आदित्य की पिटाई करते साथी छात्र

आदित्य दसवीं कक्षा के सेक्शन सी के छात्र हैं और वे अधिकतर क्लास की पहली बेंच पर पाए जाते हैं। कक्षा में घुसते ही हमें मरहम पट्टी में लिपटे हुए आदित्य मिल गये। यूँ तो उनके दाएँ हाथ में चोट लगी थी, लेकिन फिर भी वो ब्लैकबोर्ड पर कुछ लिखने की कोशिश कर रहे थे। पहले तो उन्होंने पढ़ाई का बहाना कर के कुछ भी बताने से मना कर दिया पर टीचर के कहने पर वो हमसे बात करने के लिये तैयार हो गए।

घटना को याद करते हुए उन्होंने बताया कि “कल मिश्रा सर (मैथ्स टीचर) का पीरियड ख़त्म होने को ही था पर वो परसों दिया हुआ होमवर्क चेक करना भूल गए थे। एक जिम्मेदार छात्र होने के नाते मैंने उन्हें वो याद दिला दिया। इस पर बाक़ी सभी छात्र एक दूसरे को कुछ इशारे करने लगे पर उस वक्त मिश्रा सर होमवर्क सही समय पर करने पर मेरी तारीफ कर रहे थे, इसलिए मेरा ध्यान उनकी तरफ नहीं गया।”

“स्कूल ख़त्म होने के बाद जैसे ही मैं पार्किंग में पहुँचा, तो क्लास के कुछ लड़कों ने मुझे बुरी तरह से पीटना शुरु कर दिया। उन्होंने मुझे क्यों पीटा, ये बात मेरी समझ में अभी तक नहीं आई।” हालांकि इतनी सी जानकारी से फ़ेकिंग न्यूज़ की टीम को सारा माज़रा समझ में आ गया। इस बीच, आदित्य के घरवालों ने इस घटना की शिकायत स्कूल प्रिंसिपल से कर दी है।

उधर, छात्र की पिटाई के इस मामले को ‘ऑल इंडिया छात्र संगठन’ ने काफ़ी गंभीरता से लिया है। संगठन के प्रेसिडेंट गुड्डू शर्मा ने फेकिंग न्यूज से बातचीत में कहा कि “एक छात्र की पिटाई पर बेकार में इतना बवाल मचाया जा रहा है। और उस एक पढ़ाकू छात्र की वजह से जो इतने सारे छात्र क्लास में रोज़ पिटते हैं, उनका क्या?”

संगठन ने इस समस्या का हल यह निकाला है कि आगे से ऐसा करने वाले छात्र को पूरी कक्षा का होमवर्क करना पड़ेगा। यह नियम कल से ही लागू किया जा रहा है और इसके लिये देश के सभी स्कूलों को नोटिस जारी कर दिये गए हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें