Saturday, 29th April, 2017
चलते चलते

दुकानदार ने धोखे से बेच दी अपनी 'आत्मा', टारगेट पूरा करने का था दबाव

29, Oct 2016 By Ritesh Sinha

मुंबई. शहर के चोर बाजार इलाके में सदानंद शिरके अपनी इलेक्ट्रोनिक सामान की दुकान चलाते थे। दीपावली के चलते उस पर टारगेट पूरा करने का भारी दबाव था। उसने कसम खाई थी कि वह इस साल पिछले साल से 50% ज्यादा सामान बेचेगा। वो इस टारगेट को पूरा करने के लिए जी जान से जुट गया। उसने दुकान में ‘30% Flat Off’ का बोर्ड भी लगा रखा था। टारगेट पूरा करने की जिद में वो अपनी आत्मा का भी ख्याल नहीं रख सका और गलती से अपनी आत्मा किसी को बेच डाली। हुआ यूँ कि कल सदानंद शिरके की दुकान में बहुत भीड़ थी और वह अपने ग्राहकों को जल्दी-जल्दी सामान बेच रहा था इसी चक्कर में उसने अपनी ‘आत्मा’ निकालकर किसी को बेच दी।

टार्गेट पूरी करने के लिये सस्ते में बेच दी आत्मा
टार्गेट पूरी करने के लिये सस्ते में बेच दी आत्मा

थोड़ी देर बाद उसने महसूस किया कि उसकी आत्मा उसके पास नहीं है और वह अपनी खोई हुई आत्मा को खोजने लगा। सदानन्द के बेटे ने अपने पापा से पूछा- “पापा! याद करो ना आखिरी बार कहाँ रखा था?” तो सदानंद ने कहा-“अभी तो यहीं पर था लेकिन अब दिखाई नहीं दे रहा है।”  दुकान में मौजूद सभी ग्राहकों से कहा गया कि वो सदानंद की आत्मा लौटा दें लेकिन सबने कहा कि उनके पास सदानंद की आत्मा नहीं है। तभी सदानंद ने बड़ी मुश्किल से याद करते हुए कहा कि- “थोड़ी देर पहले एक युवक मोबाइल खरीदने आया था, लगता है मैंने अपनी आत्मा उसी मोबाइल के साथ उसके बैग में डाल दी है।”

बाद में सीसीटीवी से फूटेज निकालकर उस युवक को ढूंढा गया और उसके बैग से सदानंद की आत्मा को रिकवर किया गया। अब सदानंद अच्छा महसूस कर रहा है और अपना टारगेट पूरा करने में फिर से जुट गया है। इस घटना के बाद पुलिस ने दुकानदारों को अपनी जान माल की रक्षा करने का अलर्ट जारी किया है और कहा है कि ग्रोथ बढ़ाने के चक्कर में कम से कम अपनी आत्मा का तो ख्याल रखें।



ऐसी अन्य ख़बरें