Wednesday, 18th October, 2017

चलते चलते

इंजेक्शन लगवाने से डरने वालों के लिए खुशखबरी, मार्केट में आया डर भगाने वाला इंजेक्शन

26, Dec 2016 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. एक अनुमान के अनुसार भारत की लगभग 90% जनता डॉक्टर से इंजेक्शन लगवाने से डरती है। लोग कैप्सूल या टेबलेट खाकर काम चला लेते हैं लेकिन इंजेक्शन लगवाने के नाम पर उनकी सिट्टी -पिट्टी गुम हो जाती है। लेकिन अब इंजेक्शन से डरने वालों को और ज़्यादा डरने की ज़रूरत नहीं है।

Injection Fear
इंजेक्शन से डरकर रोती एक बहादुर युवती

दिल्ली AIIMS के चिकित्सा वैज्ञानिकों ने एक ऐसे इंजेक्शन का अविष्कार किया है, जिसे एक बार लगाने से इंजेक्शन का डर हमेशा के लिए मरीज के दिमाग से निकल जाएगा। इस नये इंजेक्शन को लगा लेने के बाद अगली बार मरीज इंजेक्शन को देखकर रोने के बजाय हंसने लगेगा और वह खुद इंजेक्शन लगवाने के लिए अपनी पैंट नीचे कर देगा।

हालाँकि इस इंजेक्शन को भी कितने लोग लगवाने की हिम्मत कर पाएँगे इसका खुलासा नहीं हो पाया है। क्योंकि इसे कम से कम एक बार लगवाना जरूरी है और उसी एक बार के लिए भी कई लोग हिम्मत नहीं कर पा रहे हैं।

दिल्ली के ही रहने वाले अक्षय ध्रुव ने बताया कि “वैसे तो मैं किसी से नहीं डरता, शेर का बच्चा हूँ, लेकिन यार इंजेक्शन का नाम सुनते ही मैं कांपने लगता हूँ। अब लोग बता रहे हैं कि इस डर को दूर भगाने के लिए कोई नया इंजेक्शन आने वाला है तो मैं बहुत खुश हो गया था, लेकिन यार प्रॉब्लम ये है कि इस इंजेक्शन को कैसे लगवाऊं!“

वहीं, इस इंजेक्शन का अविष्कार करने वाले वैज्ञानिकों को अब धमकी भरे फोन आ रहे हैं। “धमकी देने वाला फोन पर क्या कहता है?” ऐसा पूछे जाने पर AIIMS के डॉक्टर हिम्मत सिंह सिरिंजवाला ने चुपके से बताया कि- “आज सुबह ही एक फ़ोन आया था। कह रहा था कि साले! काम तो तूने अच्छा किया है लेकिन इंजेक्शन का डर भगाने के लिए तुझे इंजेक्शन बनाने की ही सूझी? कोई टेबलेट या कैप्सूल नहीं बना सकता था? किसने तुझे साइंटिस्ट बना दिया बे! तू मिल गया ना मुझे तो तेरा ये इंजेक्शन तेरे ही पिछवाड़े में ठोंकूंगा।”



ऐसी अन्य ख़बरें