Tuesday, 24th October, 2017

चलते चलते

झाड़ू लगाते वक़्त नहीं किया पंखा बंद तो कामवाली को भेजा 'स्किल डेवेलपमेंट सेंटर'

01, Oct 2017 By Guest Patrakar

गुरुग्राम. कैसा लगेगा अगर शेर दहाड़ना छोड़ दे, कुत्ता भौंकना छोड़ दे या केजरीवाल जी इल्ज़ाम लगाना छोड़ दें? आप चौंक जाएंगे ना? ऐसा ही कुछ हुआ जब एक कामवाली ने झाड़ू लगाते समय पंखा बंद नहीं किया जिसके चलते घर वालों की नींद नहीं खुली और वे ऑफ़िस के लिए लेट हो गए।

Maid- Kaam wali Bai
पंखा बंद ना करने वाली कामवाली बाई

यह हैरतअंगेज़ घटना शुक्रवार को देश के साइबर हब में घटी। यहाँ रहने वाले पाण्डेय दम्पति सिर्फ़ इसलिए ऑफ़िस समय से नहीं पहुँच पाए क्योंकि उनकी कामवाली ने झाड़ू लगाते समय पंखा बंद नहीं किया। अक्सर पंखा बंद हो जाने के कारण नींद से उठने वाले अरुण पाण्डेय और उनकी पत्नी शिखा पाण्डेय अब अलार्म लगाना भी ज़रूरी नहीं समझते क्योंकि उनकी कामवाली हमेशा समय पर आती है और झाड़ू लगाते वक़्त पंखा बंद करके उनकी नींद ख़राब कर देती है।

शुक्रवार को जब अरुण और शिखा दोनों देरी से आफिस पहुँचे तो दोनों को ही बॉस की फटकार सुननी पड़ी। जिसके बाद उन्होंने अपनी कामवाली को फटकार लगायी और उसे ‘स्किल डिवेलप्मेंट कोर्स’ के लिए भेजने का निर्णय लिया।

ज्ञात हो कि ‘स्किल इंडिया’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किया गया एक अभियान है जिसके तहत युवाओं को कई कामों के लिए कौशल सिखाया जाता है। जैसे कि इलेक्ट्रिशियन, प्लंबर इत्यादि। इस अभियान के तहत देश भर में कई स्किल सेंटर खोले गए हैं, जहाँ घर के काम करने वाली महिलाओं को भी काम करने के कई स्किल सिखाये जाते हैं, जैसे झाड़ू लगाते समय पंखे बंद करना और हर दो दिन बाद छुट्टी माँगना।

पाण्डेय दम्पति का कहना है कि कामवाली का छुट्टी लेना अब आम हो गया है, तकलीफ़ तब होती है जब वो आये मगर अपना काम ठीक से ना करे, हालाँकि जब वो आती है तो हम दोनों ही सोये हुए होते हैं। जहाँ, पाण्डेय दम्पति मानते हैं कि उनकी कामवाली आगे से ऐसी ग़लती नहीं करेगी वहीं देश भर की कामवालियों ने एक आंदोलन छेड़ दिया है। वे अब पंखे बंद करने का अलग से पैसा माँग रही हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें