Monday, 16th January, 2017
चलते चलते

कॉलोनी की ख़बरें न देने पर कामवाली को निकाला, कामवाली और मालकिन में झड़प

07, Jun 2016 By banneditqueen

भोपाल. अरेरा कॉलोनी में कल दो महिलाओं के बीच जमकर झड़प हुई। घटनास्थल पर पहुँचने पर पता चला कि महिलाओं में से एक कामवाली और दूसरी उसकी मालकिन है। पहले तो ऐसा प्रतीत हुआ जैसे ये पैसे ना देने या बाई का मालकिन के पति के साथ चक्कर चलने का मामला है परंतु बाद में मामला कुछ और ही निकला।

Maid- Fight
मिसेज भाटिया और शांति के बीच हुई अशांति का एक दृश्य

कॉलोनीवासियों के दखल देने के बाद किसी तरह मामला शांत हुआ लेकिन उसके बाद भी दोनो में आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला जारी रहा।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, मिसेज़ भाटिया ने अपनी कामवाली बाई शांति को काम से निकाल दिया था इसलिए उन दोनों के बीच झगड़ा हुआ। मिसेज़ भाटिया ने बताया कि “जब शांति को काम पर रखा था तब झाड़ू-पोंछा और बरतन के 1500 रुपये और 500 रुपये कॉलोनी की खबरें देने के लिये तय हुए थे। लेकिन पिछले 2 महीने से यह मुझे कॉलोनी की एक भी ख़बर नहीं दे रही थी। मजबूरी में मुझे दूसरी बाइयों को पैसे देकर कॉलोनी की गप-शप पता करनी पड़ रही थी।”

वहीं शांति का कहना है कि “मिसेज भाटिया को मैं जो भी खबरें देती थी वो उन्हें पूरी कॉलोनी में मेरा नाम लेकर फैला देती थी। इस वजह से मुझे दो घरों से निकाल दिया गया तो मैंने ‘इधर की उधर’ करना बंद कर दिया।”

जब शांति ने ख़बरें ना देने की वजह बतायी तो मिसेज़ भाटिया ने उससे बहस करना शुरू कर दिया और पिछले दो महीने के गपशप के पैसे वापस माँगने लगीं। धीरे-धीरे बात लात घूंसों तक पहुँच गई। शांति ने जहाँ झाड़ू को अपना हथियार बनाया तो वहीं मिसेज़ भाटिया वैक्यूम क्लीनर के नोज़ल का इस्तेमाल कर रही थीं।

मिसेज़ भाटिया ने हमारे रिपोर्टर को बताया कि “कॉलोनी की सारी गपशप पता होने के चलते पहले मैं हर किटी पार्टी की जान हुआ करती थी पर अब तो कोई मुझे इनवाइट भी नहीं करता।”

फिलहाल मामला कॉलोनी के महिला संगठन के पास जा पहुंचा है और संगठन की प्रेसीडेंट ने जल्द ही मामले को सुलझाने का आशवासन दिया है।



ऐसी अन्य ख़बरें