Friday, 24th November, 2017

चलते चलते

सवाल पूछकर पिछले दस मिनट से जवाब का इंतज़ार कर रही थी पत्नी, पति ने दबा रखा था गुटखा

31, Oct 2017 By Ritesh Sinha

पटना. गुटखा मुंह में दबाने के बाद अच्छे भले लोग अचानक से गूंगे हो जाते हैं, जैसा कि पटना के रहने वाले अशोक के साथ हुआ। कल सुबह-सुबह अशोक ने गुटखा मुंह में दबा रखा था, ऐसे में उसकी पत्नी रोहिणी उसके पास आई और उसने एक सवाल पूछ लिया- “क्यों जी! अपना गप्पू किस शहर में नौकरी करता है?” तो अशोक ने जवाब ही नहीं दिया। उसने एक बार फिर पूछा, “जल्दी बताओ ना!” लेकिन अशोक का मुंह एक इंच भी नहीं खुला। थोड़ी देर के लिए उसने सोचा कि क्यों ना गुटखा थूक दिया जाए, लेकिन आखिर गुटखे की तलब जीत गई और उसने यह प्लान ड्रॉप कर दिया।

pan masala1
अपना फ़ेवरेट गुटखा मुँह में दबाये अशोक

नतीजा यह हुआ कि पिछले दस मिनट से यह सवाल पेंडिंग पड़ा हुआ था। बीच में अशोक ने कई बार इशारा करके बताने की भी कोशिश की, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। यह देखकर रोहिणी को बहुत गुस्सा आ गया। “फिर से ठूंस लिया वो मुँह में!” -कहती हुई वो पैर पटकते हुए किचन में चली गई।

पूरे दस मिनट तक गुटखे की जान निकालने के बाद अशोक ने अपना मुंह आजाद कराया और सीधे रोहिणी के पास पहुँचा। “अरे! अपना गप्पू यहाँ काम करता हैं ना, बैगलोर में! मैंने तुम्हे बताया तो था!” -उसने पूरा मुँह खोलकर कहा। उधर, रोहिणी बेहद गुस्से में थी, उसने उसकी ओर ज़रा भी ध्यान नहीं दिया। अब अशोक समझ गया कि हालात अभी सामान्य नहीं हुए हैं, इसलिए वो चुपचाप वहां से चला गया।

फ़ेकिंग न्यूज़ से बातचीत में अशोक ने बताया कि, “नहीं! ऐसी बात नहीं है कि मैं उसे पसंद नहीं करता, लेकिन उसे भी माहौल देखकर सवाल पूछना चाहिए ना! अगर जवाब ‘हां’ या ‘ना’ में देना होता तो मैं मुंडी हिला के जवाब दे सकता था, लेकिन उसका सवाल ही बड़ा कातिलाना था, उसके लिए मुंह खोलना ही पड़ता! अब आप तो जानते ही हैं, गुटखा दबाने के बाद….!” -अशोक ने अपनी सफाई देते हुए कहा।

“क्या बताऊँ भाईसाब! मेरे साथ ऐसा ही होता है! जब भी मैं गुटखा चबाता हूँ, तो बहुत सारे सवाल तब तक पेंडिंग पड़े रहते हैं! गुटखा थूकने के बाद ही बात आगे बढ़ पाती है! लेकिन आज तो वो कुछ ज्यादा ही गुस्से में नज़र आ रही है!” -कहता हुआ अशोक टेंशन में आ गया। इस बीच उसने गुटखे का एक और पाउच जेब से निकाला और मुँह उठाकर फाँक लिया।



ऐसी अन्य ख़बरें