Saturday, 25th March, 2017
चलते चलते

पीकर 'गड्डी तो तेरा भाई ही चलाएगा' नहीं कहने पर तीन दोस्तों ने चौथे दोस्त को गाड़ी से बाहर फेंका

24, Sep 2016 By chachachaudhary

नयी दिल्ली. कल फ्राइ़डे की रात को दिल्ली के राजौरी गार्डन इलाक़े मे एक ऐसी सनसनीखेज घटना घटी, जिससे दिल्ली की छवि पर गहरा धब्बा लग गया। इस हैरतअंगेज़ घटना में जिम्मी, हैप्पी और लकी नाम के तीन दोस्तों ने मिलकर अपने चौथे दोस्त सन्नी को उठाकर गाड़ी से बाहर फेंक दिया। सन्नी को कुछ मामूली खरोचें ही आई है पर उसने मानसिक यातना का हवाला देते हुए एम्स के ट्रॉमा सेंटर मे भर्ती होने की ज़िद पकड़ रखी है।

Drunken Drive4
दिल्ली का लौंडा शान से गड्डी चलाते हुए

फ़ेकिंग न्यूज़ के रिपोर्टर बोनोबॉस ने इस दिल दहला देने वाली घटना की सिरे से तहकीकात की। हैप्पी और लकी से जब इस घटना के बारे मे पूछताछ की कोशिश की गयी तो वे ‘भारी हैंगओवर’ का हवाला देते हुए पतली गली से निकल लिए पर जिम्मी ने न्यूज़ में आने के लालच में घटना का पूरा ब्यौरा दे दिया, जो कुछ यूं हैः

बोनोबॉस: जिम्मी जी, ऐसा क्या हो गया था कि आप लोगों ने अपने ही दोस्त को गाड़ी से बाहर फेंक दिया?

जिम्मी: उस साले ने काम ही ऐसा किया था, पूरी दिल्ली की नाक कटवा दी, किसी को मुँह दिखाने के लायक नहीं छोड़ा!

बोनोबॉस: जिम्मी जी, ज़रा डीटेल मे बताएँगे।

जिम्मी: हम लोग हर वीकेंड की तरह पार्टी एंजॉय करके पब से बाहर निकले थे। हनी सिंह के दारू-पार्टी-गाड़ी-लड़की वाले गाने पर डाँस कर करके हम पूरी तरह ओवर हो चुके थे और हमारी फिर हमेशा की तरह मुर्थल जाकर मक्खन वाले परांठे खाने की तैयारी थी। हमेशा की तरह हमने अपनी गाड़ी नो पार्किंग पर टेढ़ी लगाई थी। चूंकि हम काफ़ी देर से पी रहे थे और अच्छी किक लगी थी इसलिये हमेशा की तरह उम्मीद कर रहे थे कि सन्नी, जो कि सबसे ज़्यादा टल्ली था, कहेगा कि “गड्डी तो तेरा भाई ही चलाएगा” और हम आपस मे गाड़ी चलाने के लिए लड़ेंगे। फिर जो सबसे ज़्यादा टल्ली होगा, गाड़ी वो ही चलाएगा।

बोनोबॉसः अच्छा! फिर क्या हुआ?

जिम्मीः फिर उसका चुतियापा देखो। कहन लगा कि ‘पीकर गाड़ी नही चलानी चाहिए, तुम सब ने भी बहुत पी रखी है, कैब बुलवा लेते है।’ भाईसाब, हमारी इतनी बेइज़्ज़ती तो लाइफ मे कभी नहीं हुई थी। हमारी नहीं तो दिल्ली की ही कुछ इज़्ज़त रख लेता। दिल्ली का लौंडा होकर दारू पीकर गाड़ी चलाने को नहीं कह रहा! यह क्या बात हुई भला! आए दिन लोग मुंबई मे दारू पीकर गाड़ी ठोक रहे हैं और हम दिल्ली मे सूखे में गाड़ी चलायें?

बोनोबॉसः क्या आपके घरवाले नहीं कहते कि नशे में कैब से आया करो?

जिम्मीः कैब से घर जाऊंगा तो डैडी जी उल्टा पीट-पीट कर थुंबा बना देंगे। कहेंगे कि गड्डी किसलिए दिलवाई है और पीकर कैब मे बैठते हुए अगर किसी ने देख लिया तो हम तो किसी को मुँह दिखाने के काबिल नही रहेंगे दिल्ली में! अरे, उस साले को गड्डी नही चलानी थी तो डेंगू या चिकनगुनिया का बहाना बना देता। हमें कैब मंगवा लेने जैसी बेइज़्ज़ती बर्दाश्त नहीं है। इसलिये हमें ग़ुस्सा आ गया और हमने सन्नी को उठा कर गाड़ी से नीचे फेंक दिया और फिर तेरे भाई जिम्मी ने पूरी ग़ैरज़िम्मेदारी से गाड़ी चलायी। हमने सन्नी को लास्ट वॉर्निंग भी दे दी है- या तो अपनी पीने की कैपेसिटी बढ़ाए और गाड़ी चलाए, नहीं तो फिर दिल्ली छोड़ के कहीं और शिफ्ट हो जाये।



ऐसी अन्य ख़बरें