Tuesday, 23rd May, 2017
चलते चलते

शादी में तंदूरी रोटी की लाइन में 5 मिनट भी संयम से खड़ा नहीं रह पाया युवक, स्टॉल पे मची भगदड़

19, Dec 2016 By sameer mahawar

जालंधर. माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा की गयी नोटबंदी की स्कीम का समर्थन करते हुए चुपचाप ATM की लाईन में घंटों खड़ा रहने वाला युवक राघव शर्मा अपना सब्र उस समय खो बैठा, जब उसे एक विवाह कार्यक्रम में तंदूरी रोटी के लिए 5 मिनट के लिये खड़ा रहना पड़ गया।

Indian Wedding
तंदूरी रोटी के लिये शादी के मंडप में मची भगदड़

बताया जा रहा है कि राघव अपने मित्र के पड़ोसी की बेटी की शादी में पहुँचा था, जहां उसने सबसे पहला वार सीधा पाव-भाजी के स्टॉल पर किया। वहाँ से वह पानी-पूरी और पापड़ी-चाट के स्टॉल की तलाश में निकला। दोनो जगह उसे ज़्यादा भीड़ नही मिली और वहाँ पर उसने शगन में देने वाले पैसे की भी आसानी से भरपाई कर ली। लेकिन उसके बाद जो हुआ उससे पूरे कार्यक्रम का मज़ा खराब हो गया।

राघव अपनी थाली में शाही पनीर, पनीर लज़ीज़दार, पनीर मखनवाला और दाल मखनी भर कर रोटी और नान के स्टॉल की तरफ जा पहुँचा। तंदूरी रोटी और बटर नान के लिए क़तार इतनी लंबी थी कि जब तक किसी की बारी आती, तब तक थाली में रखी हुई सब्ज़ी एकदम ठंडी हो जाती। उसने सोचा कि अगर मैं ATM की लाइन में 5 घंटो के लिए खड़ा हो सकता हूँ तो यह लाइन तो उसके सामने कुछ भी नहीं है।

अपनी प्लेट में ठूस-ठूस कर भरी गई सब्ज़ियों को ठंड़ा होता देख उसने लाइन में पहले से ही खड़े लोगों को चकमा देकर बीच में घुसने की कोशिश की, जिसके कारण लोग अपना आपा खो बैठे और स्टॉल पर भगदड़ को अंजाम दे बैठे।

बिट्टू चड्ढा, वर के दूर के फूफाजी, भी उसी लाइन में मौजूद थे। उनका कहना है, “जी मैं ता मुंडे नू पहला ही केहा सी कि लाइन तोड़न दी कोशश ना करे। सान्नू वी पंज मिनट लई लगना ही पया लाईन विच, पर व्याह/ शादियाँ च साड्डी गल सुनदा ही कोण है। खलारा तान पेना ही सी। तंदूरी रोटी दा जो सवाल सी।”

सूत्रों के अनुसार, लोगों को ज़्यादा नुकसान नही पहुँचा लेकिन धीरे-धीरे तंदूरी रोटी और बटर नान बना रहे हलवाइयों को डोंगा भर पंजाबी गालियां सुनने को ज़रूर मिल गयीं, जिससे थोड़ी देर के लिए गायब हुई हुई रौनक फिर से वापिस आ गई।



ऐसी अन्य ख़बरें