Sunday, 22nd October, 2017

चलते चलते

दस गज़ के बजाय 10 किलोमीटर की सफ़ाई में जुटा गुप्ताजी का लड़का, अमिताभ को कोस रहे हैं घरवाले

16, Oct 2016 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. शाहदरा में परचून की दुकान चलाने वाले रामनिवास गुप्ता का पूरा परिवार आज अमिताभ बच्चन को कोस रहा है। गुप्ताजी का कहना है कि अमिताभ के बहकावे में आकर उनका मंझला लड़का मोहू (मोहित गुप्ता) दुकान का काम-धाम छोड़कर सफ़ाई के पीछे लग गया है, जिसकी वजह से सारा काम-धंधा चौपट हो गया है।

lakshmi5
इसी लक्ष्मी के चक्कर में गया गुप्ताजी का लड़का हाथ से

दुकान के बाहर कुर्सी डालकर बैठे गुप्ताजी ने बताया कि “हमारा मोहू अच्छा-खासा गल्ले पे बैठा करता था। उस अमिताभ की एड को देखने के बाद सारा टैम लछ्छमी के फोटो वाले आले की झाड़-पोंछ करने लगा। कुछ दिन बाद झाड़ू ले के गली में उतर गया। मैंने टोका तो कहन लगा- पापा दस गज़ की सफाई से अगर एक मटका लछ्छमी आती है तो सोचो 10 किलोमीटर से कित्ती आयेगी!”

“मैंने ख़ूब समझाया कि बेटा मोहू, अगर झाड़ू-पोंछे से ही लक्ष्मी आया करती तो सफ़ाई कर्मचारियों के घर लछ्छमी से भरे होते!” -गुप्ताजी बड़बड़ाते हुए बोले।

“लेकिन उसने हमारी एक ना सुनी। झाड़ू ले के निकल लिया। उसके इस पागलपन की वजह से गल्ले वाली लछ्छमी तो गयी ही, हमारी बहू लछ्छमी भी चिंटू को लेकर मायके चली गयी। अब बहू के घरवाले ताने मार रहे हैं कि हमारी तो सात पीढ़ियों में कभी किसी ने झाड़ू-कटका नहीं किया, तुम कंगले कहां से मिल गये हमें!”

फिर गुप्ताजी उठे और दुकान का शटर गिराते हुए बोले- “इस अमिताभ के बच्चन ने सब बर्बाद कर दिया। वो अपने बेटे अभिषेक को क्यूं नहीं लगाता सफ़ाई के काम पे, वो भी तो सारा टैम खाली बैठा रहता है। ‘जलसा’ के सामने जुहू बीच पे गंदगी का ढेर लगा रहता है, पहले उसे साफ़ कराये, फिर हमें लेक्चर दे!”

उधर, अमिताभ ने इस पूरे मामले से पल्ला झाड़ते हुए कहा है कि “हमारे देश के लोग पैसे के लालच के बिना कुछ नहीं करते, मैंने तो इसलिये ऐसा कह दिया था।” फिर थोड़ा उत्तेजित होते हुए बोले- “और मैंने सिर्फ़ दस गज़ बोला था, ये थोड़े कहा था कि पूरे शहर की सफ़ाई का ठेका ले लो!”



ऐसी अन्य ख़बरें