Friday, 23rd June, 2017
चलते चलते

डैन्ड्रफ़ वाले युवक के साथ 2 साल से रह रही थी युवती, फिर भी सही-सलामत मिली

28, Nov 2016 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. डीयू के कमला नगर इलाक़े से आज एक ऐसी युवती को सुरक्षित बचा लिया गया, जो पिछले 2 सालों से एक डैन्ड्रफ़ वाले युवक के साथ रह रही थी। पुलिस की राहत एवं बचाव टीम ने उसे वहां से निकालकर हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया है, जहां डॉक्टर बारीकी से उसकी जांच कर रहे हैं। सर में डैन्ड्रफ़ रखने वाले आरोपी युवक का नाम शैंकी और पीड़िता का नाम सारिका बताया जा रहा है।

Dandruff3
अपने बालों में डैन्ड्रफ़ ढूंढता शैंकी

सारिका की जांच कर रहे डॉक्टर मोहित गुप्ता ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया है कि “बाहरी तौर पर तो वो बिल्कुल ठीक दिखायी दे रही है लेकिन हो सकता है कि डैन्ड्रफ़ के सीन ने उसके दिमाग़ को नुकसान पहुंचाया हो। इसलिये हम उसे आईसीयू में शिफ़्ट कर रहे हैं।”

“इससे पहले डैन्ड्रफ़ वाले लड़के के साथ सबसे ज़्यादा दिनों तक रहने का रिकॉर्ड जर्मनी की एक लड़की के नाम था, जो एक महीने तक ऐसे लड़के के साथ रही थी। फिर उस लड़की को दो महीने अस्पताल में रहना पड़ा था।” -डॉ. गुप्ता ने जानकारी दी।

उधर, सारिका के पड़ोसियों का कहना है कि घर से निकाले जाते समय वो बार-बार कह रही थी कि वो बिल्कुल ठीक है और उसे कुछ नहीं हुआ लेकिन पुलिस उसे ज़बरदस्ती ले गयी। हमारे संवाददाता ने जब इस बारे में शैंकी के कॉलेज में पढ़ने वाली एक लड़की से बात की तो उसका नाम सुनते ही उसकी आंखें फट गयीं। “ओह, दैट डैन्ड्रफ़ गाय! मैं तो उसके पास एक मिन्ट भी नहीं रुक सकती। ही इज सो वीयर्ड! इतनी तो कश्मीर में बर्फ़ भी नहीं गिरती, जितनी उसके सर से सफ़ेदी झड़ती है। कई लड़कियां उसके डैन्ड्रफ़ को देखकर उल्टियां कर चुकी है।”

शैंकी के क्लासमेट राजीव नागर ने अपनी क़िस्मत को कोसते हुए कहा कि “पता नहीं उस चू@#% को लड़की कैसे मिल गयी। मुझे तो फ़र्स्ट ईयर में कुछ दिनों के लिये थोड़ा सा डैन्ड्रफ़ हुआ था और अब मैं फ़ाइनल ईयर में हूं। आज तक किसी लड़की ने लाइन नहीं दी भाईसाब!”

फिलहाल, पुलिस शैंकी को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। जहां डैन्ड्रफ़ के अलावा उसके दूसरे अपराधों की भी जांच की जा रही है- उसके पसीने में बदबू भी आती है क्या?, उसकी नाक में बाल हैं क्या?, वो नाक में उंगली तो नहीं देता?



ऐसी अन्य ख़बरें