Friday, 28th July, 2017
चलते चलते

"नरसिंह यादव पान भी नहीं खाता" यह सुनकर बनारस के लोग भड़के, पीएम मोदी को भी सुनाई खरी-खोटी

02, Aug 2016 By Ritesh Sinha

बनारस. डोपिंग के आरोप झेल रहे नरसिंह यादव को आखिरकार नाडा से क्लीन चिट मिल ही गई। जैसे ही ये खबर आई, नरसिंह यादव के समर्थक ख़ुशी से झूम उठे। नरसिंह के पिता पंचम यादव ने मिठाई बांटते हुए कहा कि “हम तो पहले से कह रहे थे कि हमारा बेटा सादा पान भी नहीं खाता है तो फिर वो परतिबंधित दवाई कैसे खा सकता है! हमारे बेटे के खिलाफ साजिस हुआ था।”

Paan 5
नरसिंह के लिये स्पेशल पान बनाते सुखिया पांडे

लेकिन ‘पान भी नहीं खाता’ वाली ये बात जंगल में आग की तरह पूरे बनारस में फैल गयी। जिसने भी ये बात सुनी, वही नरसिंह और उसके घरवालों को मुंह भर-भर के कोसने लगा। लोगों का कहना है कि नरसिंह के घरवालों ने ऐसा बयान देकर बनारस और बनारस की कल्चर का अपमान किया है। उन्हें इसके लिए माफ़ी मांगनी चाहिए।

नरसिंह के घरवालों के साथ-साथ बनारस के लोग प्रधानमंत्री मोदी से भी बेहद नाराज हैं। वे कह रहे हैं कि “जो आदमी पान भी नहीं खाता, मोदी जी ने उसकी मदद क्यों की? पड़े रहने देते ससुरे को मिट्टी में!”

बनारस के मशहूर पान वाले सुखिया पांडे ने नरसिंह के घरवालों को लताड़ते हुए कहा, “अगर तुम्हारा बिटुवा पान नहीं खाता तो पूरा देश में ढिंढोरा काहे पीट रहे हो। चुपचाप घर में बैठो ना, कैमरे पे ये सब बोलने का क्या जरूरत है?, हमारा धंधा मार खा जाएगा तो?”

“बुलाओ उस ससुरे को बनारस! ऐसा पान खिलायेंगे बचुआ को कि याद रखेगा, बात करता है!” -सुखिया कत्था रगड़ते हुए बोले। फिर एक पुराने पनखऊव्वा को दो-दो पान एक साथ पकड़ाते हुए उन्होंने कहा कि “ईहां का पान खइके अमीता बच्चन से लेकर सारुख खान तक सब सुपरस्टार बन गवा, अउर ई ससुरा पंचम कहत है कि ऊ पान नहीं खायेगा।”

“ऐ नरसिंहवा! बयान वापस ले ले बचुआ, नहीं तो हम आन्दोलन करेंगे, रेल पटरी उखाड़ना हमको भी आवे है रे!” सुखिया ने चूना लगाते हुए कहा। अब मामले की गंभीरता को देखते हुए रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने रियो जाने से पहले नरसिंह से माफ़ी मांग लेने की अपील की है, ताकि रेल पटरियों को उखड़ने से बचाया जा सके।



ऐसी अन्य ख़बरें