Tuesday, 24th April, 2018

चलते चलते

आधे घंटे बाद भी ऑर्डर लेने नहीं आया वेटर, फैमिली ने तब तक पी लिया दस बोतल पानी

14, Jan 2018 By Ritesh Sinha

भोपाल. रतन विलास होटल में खाने की टेबल पर बैठे नितिन श्रीवास्तव और उसकी फैमिली को आधा घंटे हो चुका था, लेकिन अभी तक वेटर आर्डर लेने नहीं आया था। एक-दो बार वो उनकी बगल से गुजरा भी, लेकिन उसने ऐसे अनदेखा कर दिया जैसे मोदी जी केजरीवाल को करते हैं। नितिन ने आवाज़ भी लगाई, दूर खड़े एक वेटर ने “आ रहा हूँ सर!” का इशारा भी किया लेकिन जनाब के दर्शन नहीं हुए।

waiter-service
वेटर को आने के लिए टिप देता नितिन

इस बीच कुछ काम नहीं था तो नितिन का परिवार सिर्फ पानी पी रहा था। सब “पानी” पीकर ही डिनर के मज़े ले रहे थे। अब तक वे दस लीटर पानी की खपत कर चुके थे।

तभी नितिन की पत्नी डिंपल ने कहा, “मैं भी बाइनाक्यूलर्स लाना भूल गई जी! वेटर को खोजने के काम आता! कहाँ चले गए ये सब? हम लोग कब तक यूँ ही बोतल में पानी भर-भरकर पीते रहेंगे! दस बोतल तो पी चुके हैं!”

“अरे! बुलाना क्या है? उस दुष्ट को खुद आना चाहिए! ..अब तुम कहती हो तो ढूंढ के लाता हूँ साले को!” -नितिन ने गुस्से में कहा और वेटर ढूंढने के अभियान पर निकल पड़ा। फिर भी उसे आर्डर लेने वाला कोई नहीं दिखा, जितने भी थे सब बिजी थे। वो हारकर वापस लौट आया।

जब वे उठकर जा ही रहे थे तो एक वेटर उनके पास आया। नितिन का चेहरा देखने लायक था। उसने झल्लाते हुए कहा, “यही सर्विस देते हो अपने कस्टमर्स को? आधे घंटे से हम पानी पीये जा रहे हैं, कोई पूछने वाला नहीं है! बच्चों ने तो इतना पानी अपनी पूरी जिंदगी में नहीं पिया, जितना आज पी लिया!” -कहते हुए वे सब उठकर जाने लगे।

“सॉरी सर! आज थोड़ा ‘Rush’ भी है, और कुछ स्टाफ छुट्टी पर भी है, इसलिए देर हो गई!” -वेटर ने झुकते हुए कहा। “हमें रुकना ही नहीं है यहाँ..चलो जी! ‘माकड़ी ढाबा’ चलते हैं! वहीँ कुछ खाएँगे! सारा मूड खराब हो गया यहाँ तो..!” -कहते हुए सभी होटल से बाहर आ गए। इस बीच, पता चला है कि दूसरे होटल में भी उन्होंने वेटर के इंतज़ार में काफ़ी पानी पीया। इस वजह से एक दिन में सबसे ज्यादा पानी पीने का रिकॉर्ड अब नितिन की फैमिली के नाम हो गया है।



ऐसी अन्य ख़बरें