Saturday, 29th April, 2017
चलते चलते

Engineer's day पर पॉकेट मनी माँग रहे युवक को माँ ने थमाया खराब टोस्टर, बोली-ठीक करने पर ही मिलेंगे पैसे

15, Sep 2016 By banneditqueen

लखनऊ. बी.बी.डी. कॉलेज के इलेक्ट्रिकल फाइनल ईयर के छात्र शाश्वत वर्मा ने इस वर्ष Engineer’s day बड़ी धूमधाम से मनाने का सोचा। घर पहुँच कर माँ से कहा “आज Engineer’day पे हम सब लोग पार्टी करने जा रहे हैं थोड़े पैसे दे दो। “माँ ने कहा ” क्या Engineer’s day कॉलेज तो जाते तो देखा नहीं आज तक, कुछ आता भी है इंजीनियरिंग का जो Engineer’s day मनाने चला है।” शाश्वत ने जवाब दिया “अरे उसकी चिंता आप मत करो इस साल डिग्री आपके हाथ में होगी, सब आता है मुझे।” माँ ने शाश्वत को 5 मिनट रुकने के लिये कहा और अंदर चली गईं।

टोस्टर ठीक करने का नाटक करता शाश्वत
टोस्टर ठीक करने का नाटक करता शाश्वत

पूरे पंद्रह मिनट बाद अंदर से आवाज़ आई “आँख बंद कर तेरे लिये सर्प्राइज़ है।” शाश्वत आँख बंद कर के खड़ा हो गया। माँ ने उसके हाथ में कुछ भारी भरकम लाकर रख दिया। शाश्वत मन ही मन खुश हो रहा था, उसे लगा माँ ने शायद उसके लिये लैपटॉप मंगाया है। पर जैसे ही उसने आँख खोली सारी उम्मीदों पर पानी फिर गया। माँ ने हाथ में एक पुराना खराब टोस्टर थमाया था। यह देख कर शाश्वत बोला – “ये क्या है?” माँ ने कहा -” तूने ही तो बोला सब आता है इंजीनियरिंग का,ये खराब टोस्टर ठीक कर के बता तब दूँगी पैसे।” शाश्वत ने कहा लाओ अभी ठीक कर देता हूँ।”

शाश्वत ने तकरीबन आधे घंटे तक टोस्टर के कल पुर्जे खोलकर टोस्टर ठीक करने का नाटक किया फिर माँ से टोस्टर के खराब पार्ट को चेंज करने के लिये 2000 रुपये माँगे और घर से रफू चक्कर हो गया। रात को पार्टी करके लौटा तो माँ हाथ में झाड़ू लेकर स्वागत में खड़ी हुई थी। चीख पुकार सुनकर मोहल्ले वाले जमा हो गये। जब मोहल्ले वालों को सारा माजरा पता चला तो उन्होंने भी बताया कि जिनके बच्चे इंजीनियरिंग की पढाई कर रहे हैं पर उनमें से कोई भी खराब इलेक्ट्रिक सामान ठीक करने में सक्षम नहीं है। इस पर मोहल्ले वालों ने कॉलेज से फीस रिफन्ड करने की माँग की है। मामला अब कोर्ट में जा पहुँचा है।



ऐसी अन्य ख़बरें