Thursday, 19th January, 2017
चलते चलते

'सोने' पे लगने वाले टैक्स को सुनकर इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स की नींद हराम, दो दिन से सो नहीं पा रहे

05, Dec 2016 By jd

बैंगलोर. मोदी सरकार आये दिन अजीब-अजीब तरह के टैक्स लगा रही है, जिससे देश की जनता में हा-हाहाकार मचा हुआ है। अब इस सरकार का एक नया फ़ैसला देश के इंजीनियरिंग छात्रों पर क़हर बनकर टूटा है। तीन दिसंबर को सरकार ने सोने पर टैक्स लगा दिया, जिसके बाद देश के ये होनहार एक पल के लिये भी चैन से सो नहीं पा रहे हैं।

Engineering Students1
टैक्स से डरकर मजबूरी में जागकर पढ़ाई करते स्टूडेंट

दिन में 17-18 घंटे सोने वाले ये स्टूडेंट्स इस घोषणा के बाद सदमे में आ गए हैं। फ़ेकिंग न्यूज़ के रिपोर्टर से बात करते हुए JP कॉलेज के बाबा नाम के छात्र, जिनकी आंखें सो ना पाने की वजह से लाल हो रक्खी थीं, ने कहा, “सरकार चाहे तो 100 रुपये का नोट भी बंद कर दे, हमें कोई फ़र्क नहीं पड़ता क्योंकि हम लोगो के पास 50 रुपल्ली से ज़्यादा कभी होते ही नहीं। लेकिन ये सोने पे टैक्स लगाना तो इंजीनियरिंग समुदाय की इज्ज़त पे हाथ डालने जैसा है।”

“और सोने से टेक्निकली हम अपना ही टाइम बर्बाद करते है, तो क्या अब हम अपना टाइम बर्बाद करने पर भी सरकार को टैक्स दें? यह साला कौन सा क़ानून है!” -बाबाजी ने पैकेट में बची आख़िरी सिगरेट को सुलगाते हुए कहा।

उनके बराबर में खड़े मोनू नाम के स्टूडेंट ने कहा- “यू नो! हम इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स के सपने बड़े होते हैं और बड़े सपने देखने के लिए ज़्यादा सोना पड़ता है। एक ज़माना था, जब हम घोड़े बेच के सोते थे। इस नोटबंदी के बाद अब ना तो कुछ बेच पा रहे हैं और ना ही सो पा रहे हैं। अगर सोयेगा नहीं इंडिया तो बस रोयेगा इंडिया!”

हालाँकि शाम तक यह मामला शांत होते हुए नज़र आया क्योंकि कॉलेज के लड़को ने फ़ेसबुक पर हेडलाइंस देख कर ही हल्ला करना शुरू कर दिया था। CAT की तैयारी करने वाले स्टूडेंट्स ने अपने साथियों को समझाया कि सरकार ने GOLD वाले सोने पे टैक्स लगाया है, नींद वाले सोने पे नहीं! यह सुनते ही स्टूडेंट्स में ख़ुशी की लहर दौड़ गयी और सब सोने के लिये अपने-अपने कमरों की ओर दौड़ पड़े। अब उम्मीद जतायी जा रही है कि वे ‘सोने’ का अपना पिछला रिकॉर्ड तोड़ देंगे।



ऐसी अन्य ख़बरें