Sunday, 17th December, 2017

चलते चलते

शादी के 3 साल बाद पति-पत्नी गये मॉरिशस, हनीमून कपल ना होने पर एयरपोर्ट से ही लौटाए गये

30, Dec 2016 By Pagla Ghoda

मॉरिशस. कुछ देशों की इकॉनॉमी बॉलीवुड फिल्मों की शूटिंग से चलती है, तो कुछ देशों की भारत के हनीमून ट्रिप्स के कारण। इनमें मॉरिशस दूसरी श्रेणी में आता है। इंडिया से मॉरिशस जाने वाली हर फ्लाइट में नयी-नयी मेहँदी चढ़ाई, हाथों में चूड़ा पहने कई महिलाओं के दर्शन हो जाते हैं, चूँकि मॉरिशस जाने वाला हर भारतीय जोड़ा आम तौर पर हनीमून कपल ही होता है इसलिये उन लोगों ने भी इसे एक नॉर्म मान लिया है। इस ‘अलिखित नॉर्म’ की वजह से पिछले हफ़्ते एक दंपत्ति को केवल इसीलिए मॉरिशस एयरपोर्ट से वापिस इंडिया भेज दिया गया क्योंकि वो हनीमून कपल नहीं थे और जिनकी शादी को भी तीन साल हो चुके थे।

mauritius
लैंड करने पर तो दंपति का ऐसा स्वागत किया गया था

इस भेदभाव का शिकार हुए पीड़ित पतिदेव जमघटन नवाथे ने बताया कि “भाईसाहब हम तो बड़े अरमानों के साथ गए थे मॉरिशस, पर हमारे साथ वहां जो हुआ उसे बता नहीं सकते! लैंड करते ही हम वीसा की लाइन में लग गये। जब हमारा नंबर आया तो इमिग्रेशन वाले ने हँसते हुए पूछा, ‘हनीमून कपल?’, हमने कहा- नहीं हम तो वैसे ही घूमने आये हैं। यह सुनते ही उसने पासपोर्ट पे ठप्पा लगाते अपने हाथों को रोक लिया और हमें अजीब नज़रों से देखने लगा। उसके चेहरे का तो रंग ही उड़ गया।”

“उसने फिर हैरानी भरे शब्दों में पूछा, ‘यू आर नॉट आ हनीमून कपल?’ जब हमने फिर से ‘ना’ में सर हिलाया तो उसने उसी वक़्त अपने हेडपीस पर सिक्योरिटी को खबर की और दो ही मिनट में छत फाड़ कर कई स्नाइपर और ब्लैक कंमांडोज फ्रीज़-फ्रीज़ चीखते हुए सैमी-ऑटोमैटिक गन ताने रस्सियों के सहारे नीचे उतर आये। सब कुछ एकदम हॉलीवुड स्टाइल में हो रहा था भाईसाब जी।”

नवाथे ने आगे बताया, “हमें तुरंत एक दूसरे रूम में ले जाकर कई घंटों तक कुछ-कुछ होता है और दिल वाले दुल्हनिया ले जायेंगे से सम्ब्धन्धित कई आड़े-टेढ़े सवाल पूछे गए। मैंने तो ज़्यादा जवाब नहीं दिए पर थैंकफुल्ली मेरी मिसेज को दोनों फिल्मों के डायलॉग तक मुंह ज़बानी याद हैं, इसलिए वो फटाफट सबके जवाब देती गयी। इस सब से उन्हें यकीन हो गया कि हम सच्चे हिन्दुस्तानी हैं और हमें छोड़ दिया। पर हमारे तो मूड के तो बाप-भाई हो चुके थे अब तक! अब घूमने-घामने का कोई मूड नहीं बचा था। इसलिये हम अगली फ्लाइट पकड़कर वापिस लौट आये।”

हालांकि, मॉरिशस की ओर से अभी इस मामले में कोई भी आधिकारिक टिपण्णी नहीं की गयी है पर कहा जा रहा है कि आमतौर पर इंडिया से कोई भी सैलानी जोड़ा बिना हनीमून मनाने की इच्छा से मॉरिशस नहीं आता, इसलिए इस जोड़े के वहां बिना हनीमून के पहुँचने पर सिक्योरिटी सिस्टम में एक अलार्म ट्रिगर हो गया था, जिस कारण इस दंपत्ति को इस पूरी प्रक्रिया से गुज़ारना पड़ा।



ऐसी अन्य ख़बरें