Friday, 24th November, 2017

चलते चलते

बच्चे ने सौ बार इनकार नहीं किया तो आंटी ने वापस लिए पैसे

05, Nov 2017 By chetna chauhan

इंदौर. कल शहर में एक दिल दहला देने वाली घटना में बबलू नामक लड़के को सौ का नोट नहीं मिल पाया और उसे बचे हुए समोसों से ही संतोष करना पड़ा। बबलू की आंटी उसे पैसे दिये बिना ही वापस चली गयीं, जिसकी वजह से पूरे घर में भारी असंतोष है।

mom-beating-son
पैसे गंवाने पर बबलू की पिटाई करतीं मम्मी

हमारे संवाददाता को दिए गए बयान में बबलू ने कहा “सिर्फ इस उम्मीद में कि आंटी जाते वक़्त ज़रूर कुछ ना कुछ देकर जाएँगी, मैंने 4 घंटे बिना फ़ोन चलाये घर के ड्राइंग रूम में ही बिता दिये।” बबलू के अनुसार आंटी ने जाते वक़्त सौ रुपये का नोट बबलू के हाथ में दिया तो ज़रूर लेकिन झट से वापस भी ले लिया। इसके अलावा, आंटी बबलू के घरवालों को ताना देने से भी नहीं चूकीं। आंटी ने अनुसार बबलू एक बिना संस्कारों वाला बच्चा है, जिसने सिर्फ 2-3 बार कहने पर ही दिए गए पैसे पकड़ लिए।

इस घटना के बाद बबलू की मम्मी भी सकते में आ गयीं और उन्होंने बबलू की जमकर सुताई कर दी। बाद में उन्हें अपनी ग़लती का अहसास हुआ। पश्चाताप करते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें बबलू को सौ बार मना करने की ट्रेनिंग ठीक से देनी चाहिए थी। उधर, बबलू का कहना है कि आज तक आंटियों के जाने के बाद सारे रुपये मम्मी ही उससे झटक लेती हैं।

बबलू के अनुसार, वो मेहमानों से रुपये लेने से पहले हमेशा सौ बार मना करता आया है, पर ऐसा ना करने का परिणाम उसे नहीं पता था। इस नुकसान की भरपाई करने के लिए बबलू ने एक उपाय भी सोच लिया है, जिसमें उसकी फ़ैमिली भी पूरा सहयोग दे रही है। उनकी प्लानिंग है कि अगले महीने आंटी के बेटे का बर्थडे आ रहा है, उसमें नए गिफ्ट की जगह दिवाली की सोनपपड़ी का डब्बा पैक करके देने से नुकसान की भरपाई हो जाएगी।



ऐसी अन्य ख़बरें