Wednesday, 20th September, 2017

चलते चलते

पतंजलि नूडल्स खाते ही बच्चा बना संस्कारी, मोबाइल को छोड़कर छूने लगा माँ-बाप के पैर

23, Jul 2017 By बगुला भगत

वाराणसी. बिज़नेस-कम-योग गुरु बाबा रामदेव की पतंजलि कंपनी के नूडल्स खाते ही कल बनारस में चमत्कार हो गया। पतंजलि के आटा नूडल्स खाने की वजह से संयम नाम के एक बच्चे ने अपनी सारी गंदी आदतें छोड़कर अचानक माँ-बाप का कहना मानना शुरु कर दिया है। और तो और, वो सुबह उठकर माता-पिता और सारे बड़े-बूढ़ों के पैर छूने लगा है। इस घटना के बाद संयम पूरे शहर में चर्चा का विषय बना हुआ है।

patanjali atta noodles
संयम के लिये ख़ुद नूडल्स बनाते बाबा रामदेव

शहर के बजरंग नगर में रहने वाले मधूसूदन पांडे कुछ दिनों पहले तक अपने बेटे संयम की आदतों से परेशान थे। वो माँ-बाप की किसी बात पर ध्यान नहीं देता था। जब देखो तब मोबाइल पर लगा रहता था। और मोबाइल पर भी उल्टी-सीधी चीज़ें देखता रहता था। पिछले हफ़्ते मम्मी मधु ने उसे एक गंदा वीडियो देखते रंगे हाथों पकड़ लिया था। जिसके बाद घर में चार दिनों तक महाभारत मची रही।

लेकिन कुछ दिन पहले सब कुछ अचानक बदल गया! हुआ ये कि संयम की मम्मी पिछले संडे को मैगी के बजाय पतंजलि के आटा नूडल्स ले आयीं। संयम ने जैसे ही वो खाये, खाते ही पता नहीं क्या हुआ! उसने प्लेट रखी और मम्मी के पैर छू लिये। यह देखकर मम्मी की आँखें डबडबा गयीं। उन्होंने संयम को उठाकर सीने से लगा लिया और बोलीं- “बस कर पगले, अब रुलायेगा क्या!”

संयम उठा और अपनी प्लेट ले जाकर सिंक में रखी और उसे धोने भी लगा। यह देखते ही मम्मी ने उसके पापा को आवाज़ देकर बुलाया- “अरे जल्दी आओ! देखो अपना संयम क्या कर रहा है!” देखते ही देखते पूरे मोहल्ले में हल्ला मच गया। घटना का पता चलते ही लोग पतंजलि के नूडल्स खरीदने मार्केट की ओर दौड़ पड़े।

उधर, कुछ लोग इस घटना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी जोड़कर देख रहे हैं। इन लोगों का कहना है, “चूंकि मोदी जी हमारे यहाँ से सांसद हैं, इसलिये लोगों के मन में अच्छे संस्कार तो आने ही थे!”



ऐसी अन्य ख़बरें