Sunday, 22nd April, 2018

चलते चलते

फ़्लाइट से पहले फ़ेसबुक पर फ़ोटो पोस्ट ना करने पर युवक का बोर्डिंग पास कैन्सल

02, Apr 2018 By Guest Patrakar

नयी दिल्ली. आज कल भारतीय एयरलाइंस में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। कभी किसी यात्री का समान फ़्लाइट से फेंक दिया जाता है तो कभी किसी यात्री को ही! अभी बीते दिनों एक युवक का बोर्डिंग पास केवल इसलिए कैन्सल कर दिया गया क्योंकि उसने एयरपोर्ट में घुसने से पहले फ़ोटो के साथ फ़ेसबुक, इंस्टाग्राम और अन्य सोशल मीडिया साइट्स पर चेक इन नहीं डाला था।

airport-selfie
इसी सेल्फ़ी से फ़ेसबुक पर चेक-इन करना भूल गया मोहित

मुकेश अहलावत नाम के इस पैसेंजर ने अपने बुरे से बुरे सपने में भी नहीं सोचा होगा कि उसका बोर्डिंग पास ऐसी छोटी सी चीज़ के कारण कैन्सल हो जाएगा। हमने इस बारे में दिल्ली के IGI एयरपोर्ट के कर्ता-धर्ता संदीप शर्मा से बात की और मामले की सारी जानकारी ली। संदीप ने बताया, “जी हाँ हमने मुकेश का बोर्डिंग पास कैन्सल किया था क्योंकि उसने अन्य यात्रियों की तरह फ़ेसबुक पर अपनी फ़ोटो डालकर ‘आई एम ट्रैवलिंग-एट IGI एयरपोर्ट’ का चेक इन नहीं डाला था। लगभग सभी यात्री ऐसा ही करते हैं। ऐसे में अगर कोई लीक से हटकर चलने लगे तो हमें भी परेशानी हो जाती है। इसलिए हम अगले महीने से यह नियम लागू करने जा रहे हैं कि यात्रियों को बोर्डिंग पास तभी मिलेगा जब वे अपने फ़ेसबुक पर चेक-इन का स्क्रीनशॉट दिखाएँगे।”

इसके बाद घटना के पीड़ित मुकेश ने भी हमसे बात की और अपना दुखड़ा सुनाया। मुकेश ने कहा, “मैं पिछले कई सालों से फ़्लाइट से यात्रा कर रहा हूँ और हर बार मैं फ़ेसबुक पर चेक-इन कर के ही अंदर घुसता हूँ। पता नहीं इस बार ऐसा कैसे हो गया कि मैंने वहाँ चेक-इन नहीं किया। बस इसी बात पे उन्होंने मेरा बोर्डिंग पास कैन्सल कर दिया। मैंने उन्हें बहुत समझाया कि मैं हर बार चेक-इन करता हूँ, मैंने तो यह तक भी बोला कि मैं जब बाहर खाना खाने जाता हूँ तब भी बिल दो बार चेक करता हूँ और बिल के साथ आयी मीठी सोंफ को टिशू में बाँध कर घर ले आता हूँ। लेकिन तब भी उन्होंने मेरी एक ना सुनी और मेरा पास फाड़ दिया!”

हालाँकि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब छोटी सी ग़लती की वजह से किसी यात्री को ख़ामियाज़ा भुगतना पड़ा हो। इस से पहले एक एयरलाइंस से एक यात्री को केवल इसलिए उतार दिया था क्योंकि उसने फ़्लाइट के रिफ़्रेशमेंट में आयी टॉफ़ियों को मुट्ठी भरके जेब में नहीं रखा था।

ऐसे एक नहीं बहुत से क़िस्से हैं, जहाँ यात्रियों को ऐसी छोटी सी ग़लती की वजह से बाहर निकाला हो। लेकिन मुकेश के साथ हुई अनहोनी और लोगों के लिए एक सबक़ बन जाएगी इस बात में कोई शक नहीं। और बात भी सही है, जब आप बाज़ार से सुई लेने जाने से लेकर टॉयलेट में जाने तक की ख़बर सोशल मीडिया पर डाल सकते हो तो प्लेन से सफ़र करने की ख़बर क्यूँ नहीं?



ऐसी अन्य ख़बरें