Sunday, 25th February, 2018

चलते चलते

घर आए मेहमान ने चिंटू को एक बार भी नहीं कहा- 'क्यूट', चिंटू हुआ नाराज़

04, Feb 2018 By Ritesh Sinha

भोपाल. प्रतीक जैन का इकलौता बेटा ‘चिंटू’ कल शाम से ही मुंह फुलाकर बैठा है, ना वो किसी से बात कर रहा है और ना ही हँस-खेल रहा है। चिंटू के नाराज होने का कारण सिर्फ इतना है कि घर आए मेहमान ने उसे एक बार भी ‘क्यूट’ नहीं कहा! चिंटू का कहना है कि इससे उसकी भावनाएं आहत हुई हैं।

angry-child
मौसी से मुँह फुलाए बैठा चिंटू

हुआ यूँ कि कल प्रतीक की मुंहबोली मौसी उनके घर आई हुई थीं। मौसीजी अपने साथ चिंटू के लिए गिफ्ट वगैरह भी लाई थीं। वो घर में पांच घंटे तक रहीं और शाम होते ही विदा हो गईं। वापस लौटते समय उन्होंने चिंटू को सौ रुपए भी दिए। यानि मौसीजी ने सारे प्रोटोकॉल्स का सख्ती से पालन किया। लेकिन अनजाने में ही उनसे एक बड़ी भूल हो गई। जब तक वो घर में रहीं, उन्होंने एक बार भी चिंटू को ‘क्यूट बॉय’ नहीं कहा! चिंटू ने हँसते-खेलते हुए कई बार मौसीजी से बात की फिर भी वो एक भी ‘क्यूट बॉय कांटेस्ट’ नहीं जीता पाया।

शाम को जैसे ही वो अपने घर वापस गईं, चिंटू का चेहरा देखने लायक था। उसने गुस्से में अपना चेहरा नीचे कर लिया और गुर्राने लगा। उसका उतरा हुआ चेहरा देखकर प्रतीक ने पूछा, “क्या हुआ बेटा? मौसीजी ने पैसे नहीं दिए क्या?” इतना सुनकर चिंटू दबी जुबान में बोला, “दिए हैं, सौ रूपए! लेकिन उन्होंने मुझे एक बार भी ‘क्यूट’ नहीं कहा।” -कहता हुआ चिंटू सोफे के पीछे छोटी सी जगह में घुस गया।

इसके बाद तो चिंटू के मम्मी-पापा की 90% एनर्जी उसे मनाने में ही खर्च हो गई लेकिन फिर भी वो नहीं माना। “सुबह दूधवाले अंकल भी मुझे पांच-छः बार क्यूट कहकर जाते हैं, लेकिन उन्होंने तो एक बार भी नहीं कहा।” -चिंटू फसकते हुए बोला।

“पर्स हिलाते हुए आई और पर्स हिलाते हुए चली गई! एक बार मुझे क्यूट कह देती तो उनका क्या जाता? अब वो मोटी अगली बार आएगी तो मैं उसकी तरफ़ देखूंगा भी नहीं!” -चिंटू ने वहीं सोफ़े के पीछे से एलान किया और रोने लगा। समाचार लिखे जाने तक चिंटू के स्टैंड में कोई बदलाव नहीं आया था।



ऐसी अन्य ख़बरें