Thursday, 18th January, 2018

चलते चलते

Twitter के योद्धाओं को सेना में भर्ती करेगी सरकार, बॉर्डर पर भेजने की हो रही है तैयारी

28, Dec 2017 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. यह बात तो जगजाहिर है कि दुनिया के सबसे बहादुर लोग किसी देश की सीमा पर नहीं, बल्कि सोशल मीडिया पर पाये जाते हैं- ख़ासकर ट्विटर पर! अकेले भारत में ही ट्विटर पर युद्धरत बहादुर जवानों की संख्या करोड़ों में है। इसी वजह से केंद्र सरकार ने योजना बनाई है कि ट्विटर के इन लड़ाकू जवानों को बॉर्डर पर भेजा जाये और इनकी बहादुरी का समुचित इस्तेमाल किया जाये।

Twitter Warriors
अपने-अपने हथियारों के साथ तैयार ट्विटर योद्धा

केंद्र सरकार की इंटेलिजेंस एजेंसी ने ट्विटर पर नज़र रखना शुरु भी कर दिया है। जो भी बंदा वहाँ ज़्यादा लड़ने-मरने की बात कर रहा है, उसे पंद्रह दिन के अंदर सेना में भर्ती कर लिया जायेगा। जो भर्ती होने से मना करेगा, उसे देशद्रोही माना जाएगा।

सेना की उत्तरी कमान के प्रमुख लेफ़्टिनेंट जनरल पीके सिंह ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि “हमें उम्मीद है कि इन नये जवानों के आने के बाद हमारी आर्मी चीन की रेड आर्मी को भी पीछे छोड़ देगी और दुनिया की सबसे बड़ी सेना बन जायेगी।”

“और हाँ ट्विटर पर हमारी महिलाएँ भी पीछे नहीं है, वहाँ एक से बढ़कर एक वीराँगनाएँ हैं, जो दिन-रात डाटा क़ुर्बान करके दुश्मनों के दाँत खट्टे कर रही हैं। इसलिये हम महिलाओं की भी एक टुकड़ी बनाने की सोच रहे हैं।” -ले. जनरल सिंह ने ख़ुशी जताते हुए कहा।

उन्होंने इस बात को एकदम बकवास बताया कि ये लोग सिर्फ़ वर्चुअल वर्ल्ड में ही तलवारें भाँजते रहते हैं और ज़्यादातर छुपकर वार करते हैं। “अरे, ये तो डबल बहादुर हैं क्योंकि ये देश के साथ-साथ सरकार की भी रक्षा करते हैं।” -उन्होंने योद्धाओं का समर्थन करते हुए कहा।

इस बीच, सेना में भर्ती किये जाने की ख़बर फैलते ही लाखों लोग ट्विटर छोड़कर भागने लगे हैं। वे अपने उन पुराने ट्वीट्स को भी डिलीट कर रहे हैं, जिनमें वीर रस का ज़रा सा भी भाव नज़र आ रहा है।



ऐसी अन्य ख़बरें