Sunday, 19th November, 2017

चलते चलते

ज़रूरत से ज़्यादा 'स्माइलिंग इमोजी' यूज करने पर लगेगा 'इमोजी सेस', जेटली जी का नया एलान

12, Sep 2017 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. जो लोग व्हॉट्सएप और फ़ेसबुक पर थोक के भाव हँसी वाले ‘इमोजी’ या ‘स्माइलीज’ लगाते हैं, वे सावधान हो जायें! केंद्र सरकार ऐसे सभी लोगों पर ‘इमोजी सेस’ लगाने वाली है, जो हाथ खोलकर इमोजी यूज करते हैं। सरकार को उम्मीद है कि इस सेस के लगने के बाद इमोजी की फ़िज़ूलख़र्ची रुकेगी और भारी मात्रा में रेवेन्यू भी मिलेगा।

Emoji-1
सेस लगाने के थोड़ी बाद जेटली जी फिर गंभीर हो गये

सरकार के इस नये सेस के पीछे हमेशा की तरह वित्त मंत्री अरुण जेटली की दूरदर्शी सोच है। इस फ़ैसले की जानकारी देने के लिये जब जेटली जी मीडिया के सामने हाज़िर हुए तो बहुत ख़ुश नज़र आ रहे थे। तभी लग गया था कि वो कोई ना कोई नया ‘सेस काँड’ करने वाले हैं, क्योंकि उनके चेहरे पर मुस्कान सिर्फ़ तभी दिखाई देती है, जब वो कोई नया टैक्स या सेस लगाने वाले होते हैं।

उन्होंने अपनी मुस्कुराहट पर कंट्रोल करते हुए कहा कि “घटिया से घटिया जोक पर भी लोग दस-दस इमोजी लगा देते हैं। कोई पैसे तो देने नहीं पड़ते, जितने मर्ज़ी उतने दाँत फाड़ दो। मोबाइल पे एक उंगली ही तो चलानी है। मैं बता रहा हूँ, जितना ये लोग मोबाइल पे इमोजी लगाकर हँसते हैं ना, अगर सच में इतना हँसना पड़ जाये तो इनके पेट की ऐसी-तैसी हो जायेगी।”

“लोगों को इमोजी यूज करने की ऐसी लत लग गयी है कि बस पूछो मत! लेकिन हम भी कम नहीं हैं, हमने इससे भी पैसा बनाने का रास्ता ढूंढ लिया है।” -वो मेज पर पड़े काग़ज़ों को देखते हुए बोले।

“लेकिन सरकार लोगों से पैसे वसूलेगी कैसे?” -इस सवाल को सुनकर जेटली जी कुटिल ढंग से मुस्कुराए और बोले, “हमने आधार कार्ड से मोबाइल और बैंक अकाउंट इसी दिन के लिये तो जोड़े हैं! जैसे ही कोई बंदा लिमिट से ज़्यादा इमोजी यूज करेगा, तो उसके अकाउंट से प्रति इमोजी 5 रुपये अपने-आप कट जायेंगे।” -यह कहकर वो अपने मोबाइल पर कोई जोक देखकर हँसने लगे।



ऐसी अन्य ख़बरें