Thursday, 19th January, 2017
चलते चलते

10 मिनट की चैट में युवती ने एक बार भी नहीं किया 'hmmm', युवक ने किया सोशल-मीडिया कंपनी पर केस

09, Oct 2016 By Social बैरागी

नयी दिल्ली. कल शाम को ऑफिस व्हॉट्सएप फ्रेंड के साथ हुए एक एतिहासिक व्हॉट्सएप वार्तालाप में युवती द्वारा 10 मिनट में एक बार भी ‘हम्म्म’ शब्द का इस्तेमाल नही किये जाने से युवक भयभीत हो गया। युवती का व्हॉट्सएप किसी और के द्वारा इस्तेमाल होने के डर से युवक ने सोशल मीडिया कंपनी पर केस कर दिया। हालाँकि बाद में मामला कुछ और निकला और युवक ने अपनी याचिका वापस ले ली।

Hummm
अपनी सहेली के साथ ‘हम्म्म’ टाइप करती रजनी

रजनी, जो कि ‘टेकइन्फो टेक्नोलॉजीज’ कंपनी में जॉब करती है, को उसके सहकर्मी दीपक ने ऑफिस के व्हॉट्सएप ग्रुप पर भारत-पकिस्तान युद्ध की संभावना पर चर्चा करने के लिये कैफेटेरिया में कॉफी पर आमंत्रित करने के लिए पर्सनल मैसेज किया। रजनी ने उस मैसेज का उत्तर ‘हैल्लो’ में दिया और फिर उस बातचीत को और casual बनाने के लिए दीपक ने लगभग 10 मिनट तक ऑफिस की रोज़मर्रा की बातें कीं।

फ़ेकिंग न्यूज़ के साथ एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में दीपक ने बताया कि “हर बात का जवाब ‘हम्म्म’ में देने वाली रजनी ने जब 5 मिनट तक मेरी किसी भी बात का जबाब ‘हम्म्म’ में नही दिया तो मुझे शक हो गया। और जब उसने 10 मिनट बीत जाने पर भी उसने एक बार भी ‘हम्म’ नहीं किया तो मेरा शक यकीन में बदल गया कि रजनी का व्हॉट्सएप अकाउंट हैक हो चुका है।” (हालांकि रजनी का फ़ोन फिंगरप्रिंट पासवर्ड से लॉक होता है)।

दीपक ने दिल्ली पुलिस के वुमन-हेल्पलाइन नंबर पर फ़ोन लगाकर शिकायत दर्ज करा दी। साथ ही, हाईकोर्ट में ऐसे सभी एप्स के ख़िलाफ़ केस दर्ज करने का भी मन बना लिया।

हालाँकि बाद में पुलिस ने रजनी से पुष्टि करने के बाद बताया गया कि नयी डिस्प्ले-पिक पर कॉम्प्लिमेंट्स ना आने के बाद से रजनी काफी निराश थी तो उसने ‘हम्म्म’ ना लिखकर थोड़ी देर तक चैट कर ली। उधर, ‘अखिल भारतीय सिंगल व्हॉट्सएप एडमिन संघ’ ने इस मामले पर ट्वीट करके कहा है कि “Looking Cute के लोभ में ‘हम्म्म’ ना लिखकर 10 मिनट तक बात करना ‘व्हॉट्सएप एडमिन धारा:143’ के अनुसार असंवैधानिक है और व्हॉट्सएप परंपरा के विरुद्ध है।”



ऐसी अन्य ख़बरें