Friday, 24th November, 2017

चलते चलते

फ़ेसबुक-व्हॉट्सएप पर टिकी है टूरिज्म इंडस्ट्री, फ़ोटो डालने के लिए ही घूमने जाते हैं आधे लोग

06, Nov 2017 By बगुला भगत

कैलिफॉर्निया/नयी दिल्ली. पिछले कुछ सालों में दुनिया भर के लोगों में सैर-सपाटे का शौक कई गुना बढ़ गया है, ख़ासकर भारत के लोगों में! फ़ेसबुक ने इस सैर-सपाटे पर एक चौंकाने वाला ख़ुलासा किया है। फ़ेसबुक के सीईओ मार्क ज़ुकरबर्ग का कहना है कि दुनिया के आधे से ज़्यादा लोग सिर्फ़ इसलिये घूमने जाते हैं, ताकि वे फ़ेसबुक और व्हॉट्सएप पर अपने टूर के फ़ोटो डाल सकें और दूसरों को दिखा/चिढ़ा सकें!

Wi-Fi1
अपने टूर के फ़ोटोज पर लाइक्स देखती एक फ़ैमिली

ज़ुकरबर्ग के मुताबिक, फ़ेसबुक पर रोज़ सौ करोड़ से ज़्यादा फ़ोटो डाले किये जाते हैं, जिनमें आधे से ज़्यादा फ़ोटो घूमने-फिरने वाले ही होते हैं। और इन्हें डालने वालों में महिलाओं की संख्या ज़्यादा है। “अगर इन्हें फ़ोटो डालने के लिये फ़ेसबुक और व्हॉट्सएप जैसी कोई जगह ना मिले तो इनमें से आधे लोग पूरी ज़िंदगी कहीं घूमने ना जायें!” -ज़ुकरबर्ग नेअपने टूर का फ़ोटो अपलोड करते हुए कहा।

फ़ेसुबक के सर्वे से यह भी पता चला है कि अगर कोई कहीं घूमकर आता है तो उसके एक हफ़्ते के अंदर ही उसके पड़ोसी या रिश्तेदार भी कहीं ना कहीं घूमने का प्रोग्राम बना ही लेते हैं। कुछ दिन पहले दिल्ली के करोल बाग़ की मिसेज शर्मा की पड़ोसन मिसेज भाटिया शिमला घूमकर आईं। अगर वो सिर्फ़ घूमकर ही आती तो कोई बात नहीं थी। हद ये हो गई कि उन्होंने अपने इस टूर के फ़ोटो फ़ेसबुक पे डाल दिये। और फ़ोटो भी दो-चार नहीं, पूरे डेढ़ सौ! और सारे के सारे अलग-अलग ड्रेस और एंगल में!

उन्हें देखते ही मिसेज शर्मा ने भी ज़िद पकड़ ली “डब्बू के पापा, अब तो हमें भी कहीं घूमने जाना ही पड़ेगा!” फिर उनके फ़ोटोज पर कमेंट करते हुए बोलीं कि “कित्ते गंदे फ़ोटो आते हैं इसके, फिर भी डालेगी ज़रूर! और हम तो इनसे किसी भी बात में कम नहीं हैं- ना लुक्स में और ना पैसे-धेले में!” मिसेज शर्मा की ज़िद के आगे मिस्टर शर्मा को झुकना पड़ा और इस वीकेंड पर हरिद्वर-ऋषिकेश का प्रोग्राम बनाना ही पड़ा। तो हमने देखा कि फ़ेसबुक पर फ़ोटो डलने की वजह से टूरिज्म इंडस्ट्री ने दिन दूनी-रात चौगुनी तरक़्क़ी की है और आने वाले कई सालों तक भी करती ही रहेगी।



ऐसी अन्य ख़बरें