Friday, 24th November, 2017

चलते चलते

फेसबुक रिमाइंडर के बाद भी युवक को विश करना भूला दोस्त, परेशान युवक पहुँचा दोस्त के घर

27, Sep 2016 By banneditqueen

भोपाल. फेसबुक पर यार दोस्तों को हर पोस्ट में टैग करना, उनके जन्मदिन पर लम्बे लम्बे तारीफ भरे पोस्ट लिखना तो जैसे अनिवार्य सा हो गया है। लालवानी प्रेस रोड पर रहने वाले वरुन और उसके पड़ोस में रहने वाला नितिन बचपन के दोस्त थे। दोनों की दोस्ती इतनी गहरी थी कि शायद ही कोई काम ऐसा हो जो वो साथ न करें। पूरा दिन मटरगश्ती करने के बाद रात का खाना भी वो साथ ही खाते। फेसबुक पे दिनभर एक दूसरे की वॉल पर कुछ लिखे बिना तो उनका दिन ही नहीं कटता। वरुन के फेसबुक अकाउंट की 1300 फोटोज़ में लगभग 1200 नितिन के साथ थी। पिछले रविवार वरुन का जन्मदिन था।

बर्थडे विश के लिये बार बार फोन चेक करता वरुन
बर्थडे विश के लिये बार बार फोन चेक करता वरुन

रात 12 बजे ही नितिन ने वरुन के लिये पार्टी रखी। अगले दिन जब वरुन सोकर उठा तो उसे पूरी उम्मीद थी कि नितिन ने उसके लिये फेसबुक पर पोस्ट डाला होगा। जब वरुन ने लॉग इन किया तो उसे नितिन का कोई पोस्ट नज़र नहीं आया। उसने मन ही मने सोचा कि “फेसबुक रिमाइंडर तो मिला ही होगा फिर कैसे भूल गया फेसबुक पर विश करना? या हो सकता है नितिन  कुछ स्पेशल प्लान कर रहा होगा इसीलिए पोस्ट नही किया| पूरा दिन इंतजार करने के बाद भी नितिन ने कुछ पोस्ट नहीं किया। परेशान होकर वरुन ने नितिन को कॉल लगाया पर उसका फोन बंद था। उसके बाद वरुन नितिन के घर जा पहुँचा, देखा तो नितिन सो रहा था।

वरुन ने नितिन को उठाया और गुस्से में बोला “साले सुबह से वेट कर रहा हूँ कि तू फेसबुक पे कुछ पोस्ट डालेगा मेरे लिये।” नितिन ने एक आँख खोल कर वरुन को देखा और वापस सो गया। वरुन ने फिर नितिन से पूछा “अबे हुआ क्या बताएगा?” नितिन ने जवाब दिया ” तूने भी तो कल रात की पार्टी के लिये न थैंक्स बोला फेसबुक पर न फोटोज़ में टैग किया। इतना बोलते ही दोनों में बहस होने लगी। दोनों एक दूसरे को गिनाने लगे कि किसने दूसरे के लिये कितने फेसबुक पोस्ट डाले, कितने मेन्शन्स और कितनी बार दूसरे को टैग किया।” वरुन गुस्से में नितिन के घर के बाहर चला गया। बाहर निकलते ही सबसे पहले दोनों ने एक दूसरे को ब्लॉक किया। फेसबुक पोस्ट के चलते पहले भी कई झगड़े हुए हैं, अब यह झगड़ा भी उस लिस्ट में शामिल हो गया है।



ऐसी अन्य ख़बरें