Friday, 22nd September, 2017

चलते चलते

2016 Year in Review का नीला फेसबुकी वीडियो नही शेयर किया तो रद्द होगी सदस्यता : केंद्र सरकार

12, Dec 2016 By bapuji

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने आई. टी. एक्ट में एक अहम संशोधन करते हुए ये फ़ैसला किया है कि इस साल से हर व्यक्ति को फ़ेसबुक का Year in Review 2016  वाला नीला वीडियो अपनी प्रोफाइल पर शेयर करना ज़रूरी है और अगर 31 दिसंबर तक ऐसा नही किया तो उस व्यक्ति की फ़ेसबुक सदस्यता रद्द की जा सकती है। ये घोषणा डिजिटल इंडिया प्रोग्राम को बढ़ावा देने के लिया की गयी है। प्रधानमंत्री खुद अपना वीडियो शेयर करके इस क़ानून को हरी झंडी दिखाएँगे।

फिल्म ही नहीं. साल का भी रिव्यू होगा
फिल्म ही नहीं. साल का भी रिव्यू होगा

तकनीकी विभाग के सेक्रेटरी ने फेकिंग न्यूज से बातचीत करते हुए बताया- “देखा गया है फेसबुक पर कुछ ऐसे भी लोग हैं जो सिर्फ़ कभी-कभार लाइक करने और दो-तीन कमेंट कर के निकल जाते है। ना कुछ शेयर करते हैं, ना ही मोटिवेशनल फोटो, ना ही किसी ऑनलाइन- युध मे हिस्सा लेना। ऐसे लोग एक साइको हत्यारे की तरह दूसरे लोगो की प्रोफाइल को चुप-चाप पढ़ लेते हैं पर फ़ेसबुक की बाकी जनता के लिए कुछ नही करते। अब ऐसे लोगो को सही दिशा और मुख्य धारा में लाने के लिए ही ये संशोधन किया गया है। अब इन्हें पता चलेगा कि फेसबुक सिर्फ़ लेने के लिए नहीं है बल्कि देने के लिए भी है। ”

वहीं इस फ़ैसले से कहीं खुशी है तो कहीं गम भी है। फेसबूक के जबर यूज़र मोंटी जो कि दिनभर में सौ पोस्ट शेयर करते है उन्होनें कहा कि – “दुनिया मे कुछ भी मुफ़्त नही होता। बहुत अच्छा फ़ैसला है ये लोग हमारी शेयर की हुई चीज़ो को पढ़ लेते है लेकिन खुद कुछ शेयर नही करते अब ये लोग लाइन पर आएँगे।” वहीं कुछ लोग इसका विरोध करते नज़र आए और सुप्रीम कोर्ट की धमकी देने को बात कही। एक हल्के यूज़र विकास ने बताया-” मैं तो फेसबुक कभी-कभार चेक कर लेता हूँ यू नो, मैं सिर्फ़ Quora पे एक्टिव हूँ! फेसबूक पर तो बस, किसकी शादी कहा हुई, बीवी कैसी है, हनीमून के लिए कहाँ गये, ये सब चेक कर के बंद कर देता हूँ ऐसे में ये फ़ैसला काफ़ी ग़लत है।” मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी इसका जमकर विरोध किया और कहा कि मोदी ने मार्क जुकरबर्ग से पैसे लिए है इसीलिए ये क़ानून लाया गया है।”



ऐसी अन्य ख़बरें