Sunday, 25th February, 2018

चलते चलते

पुराने कपड़े का पोछा ना बनाने से हालात खराब, कॉलोनी में बना कर्फ्यू जैसा माहौल

20, Jan 2018 By RAJ Shekhar SINGH

लखनऊ. राजधानी लखनऊ के महानगर इलाके में कल शाम हुई एक दहशत फैला देने वाली घटना, हुआ कुछ यूँ कि महानगर कॉलोनी में एक महिला ने शाम पांच बजे के आस पास अपने बच्चों के पुराने कपड़े डम्पर में कूड़ों के ढेर पर फ़ेंक दिए। मौका-ए-वारदात पर मौजूद लोग जब तक भाग कर कपड़े उठाते, डम्पर जा चुका था। मौके पर मौजूद लोग बताते हैं कि महिला के चेहरे पे कोई शिकन नहीं थी और ना ही किसी तरह का अपराध बोध। महिला ने भागने की कोशिश की लेकिन भीड़ ने महिला को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया।

फटा हुआ कपडा
फटा हुआ कपडा

थाना इंचार्ज के मुताबिक डम्पर भी खोज लिया गया है और कपड़े बरामद हो चुके हैं। चार टी-शर्ट, दो जीन्स, दो कुर्ते और एक तौलिया पुलिस ने कब्जे में कर ली है। महिला से पूछताछ जारी है पर अभी तक कोई ख़ास वजह सामने नहीं आ पायी है। पुलिस का कहना है कि अब तक के इतिहास में ऐसा संगीन अपराध कभी सामने नहीं आया। महिला को दो दिन की रिमांड पर भेजे जाने की उम्मीद है।

महिला के परिवार से संपर्क करने पर महिला के भाई ने बताया कि गत कुछ दिनों से महिला बहुत ही मानसिक तनाव से जूझ रही थी। पहले भी कई बार उसने ऐसी कोशिश की थी पर परिवार में कोई न कोई उसे रोक लेता था। इस बार उसने चाय में नींद की गोलियाँ मिलाकर सबको सुला दिया और कपडे लेकर भाग निकली। भाई का कहना है कि तनाव के चलते ही उसने इतना बड़ा कदम उठा लिया होगा।

कॉलोनी में माहौल अभी भी संवेदनशील है। घरों में ताले लग चुके हैं। अधिकारियों के निर्देश हैं कि चौबीस घंटे पेट्रोलिंग जारी रखी जाए। किसी भी व्यक्ति के पास जरूरत से ज्यादा वस्त्र दिखते ही उसे हिरासत में ले लिया जाए।

सूत्रों के मुताबिक हालात अभी भी जस के तस हैं। प्रशासन हर तरह से स्थिति को काबू में लाने की कोशिश में लगा है। मुख्यमंत्री ने रातों रात आपातकाल बैठक बुलाई है। सम्भावना है कि एक दो वरिष्ठ अधिकारियों को तलब किया जायेगा। नागरिकों से अनुरोध है कि घरों में रहिये और हालात काबू में होने तक सावधान रहें। सतर्क रहें। सुरक्षित रहें।



ऐसी अन्य ख़बरें