Saturday, 24th June, 2017
चलते चलते

घरवालों के दबाव में शादी कर रही युवती नोटबंदी से खुश, दहेज ना मिल पाने के कारण लड़केवालों ने तोड़ी शादी

22, Nov 2016 By banneditqueen

इंदौर. विजयनगर इलाके के मकान नम्बर बारह में नोटबंदी के बाद से ही उदासी का माहौल छाया हुआ था। मकान में रहने वाले शैलेष मिश्रा की बेटी वीना की इस महीने शादी थी। जिस दिन नोटबंदी का ऐलान हुआ उसके एक दिन पहले ही शैलेष ने अपनी बेटी के ससुराल वालो को 10 लाख रुपये कैश दहेज में दिया था। नोटबंदी का ऐलान होते ही वीना के ससुराल वाले भागे भागे वापस आए और पूरा पैसा यह कहकर लौटा दिया कि या तो इसे 100-100 के नोटों में दो या फिर ये शादी कैंसल।

शादी टूटने पर भी खुश होती वीना
शादी टूटने पर भी खुश होती वीना

नोट बदल पाने में असमर्थ शैलेष ने समधियों को काफी समझाया पर वे नहीं माने। शादी टूटने पर सभी घरवाले काफी दुःखी थे, कोई भी वीना के कमरे में जाकर उसे ये बात बताने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था। काफी देर बाद जाकर वीना की माँ ने उसे यह खबर दी। जब माँ कमरे में गई तो वीना रो रही थी। माँ को लगा कि शायद उसे खबर लग गई है इसीलिये वह रो रही है। माँ ने वीना को पूरी बात समझाई और कमरे से चली गई| ये सुनते ही कि शादी कैंसल हो गई है वीना खुशी से चहकने लगी। शैलेष का परिवार पिछले कई दिनों से मोदी को कोस रहा है परंतु वीना के स्वर कुछ अलग ही हैं।

वीना ने फेसबुक पर मोदी जी को धन्यवाद किया कि उनके नोटबंदी के फैसले से उसकी ज़िंदगी खराब होने से बच गई। जैसे ही यह खबर मीडिया में फैली पत्रकार वीना का इंटरव्यू लेने पहुँच गए। वीना ने बताया कि “मेरा फिलहाल शादी करने का कोई इरादा नहीं था, ऊपर से लड़केवाले निहायती लालची थे। पर घरवालों के दबाव में आकर मैने हाँ कर दी थी। नोटबंदी के बाद ससुराल वालो खुद सारा दहेज वापस कर गये।” आम जनता जहाँ एक तरफ नोटबंदी के चलते परेशानी झेल रही है वहीं ऐसे किस्से भी सुन के लिये मिल रहे हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें