Wednesday, 13th December, 2017

चलते चलते

मोटिवेशनल लेक्चर में बॉस ने इतना फेंका कि स्टाफ़ ने जमकर दौड़ाया

04, Aug 2016 By Ritesh Sinha

बेंगलुरु. साइबर सिटी की एक आईटी कंपनी के बॉस को कल अपने बारे में बढ़ा चढ़ाकर बोलना बहुत महंगा पड़ गया। अपने बॉस की इस आदत से तंग आकर उनके जूनियर स्टाफ ने उन्हें जमकर दौड़ाया। हुआ यूँ कि सात्विक बग्गा नामक बॉस अपने स्टाफ को लेक्चर दे रहे थे कि, “दोस्तो! आपको उसी तरह जमकर मेहनत करनी है, जैसे मैं करता हूँ। इस कंपनी को हमें नंबर वन बनाना है। अब मुझे ही ले लो! मैं अपनी क्लास में हमेशा फ़र्स्ट आता था, इसलिये मैं एक बार भी मुर्गा नहीं बना क्योंकि मैं हमेशा अव्वल रहता था।”

Boss
एक जूनियर को लेक्चर देते बग्गा बॉस

इतना सुनते ही ऑफिस के सभी लोग एक दूसरे की ओर देखने लगे। उन्हें लगा कि ये तो कुछ ज़्यादा ही हो गया। बॉस ने फिर फेंकना शुरू किया, “फ्रेंड्स! आपको अपना काम बिना गलती किये सीखना होगा, ठीक उसी तरह जैसे मैं बचपन में बिना गिरे साइकिल चलाना सीख गया था।” अब उन लोगों के सब्र का बाँध टूट गया। उन्होंने बग्गा बॉस को दौड़ा लिया। बॉस को दौड़ाकर वापस ऑफ़िस में घुसे विपुल नाम के एक जूनियर ने हैरानी जताते हुए कहा, “भला इंडिया में कोई ऐसा कोई बंदा है, जो स्कूल में मुर्गा ना बना हो?”

“बॉस है तो क्या कुछ भी बोलेगा! भला ऐसा कौन है जो बिना गिरे साइकिल चलाना सीख गया हो। नहीं चाहिए ऐसी नौकरी और ऐसा फेंकू बॉस!” -विपुल ने गुस्से में कहा। इस बीच, दौड़ाये जाने के बाद बॉस को भी अपनी ग़लती का एहसास हो गया। उसने कहा कि “मैं जोश में आकर कुछ ज्यादा ही बोल गया। एक्चुअली, स्कूल में मैं आधे टाइम मुर्गा ही बना रहता था और साइकिल पे तो जब भी चढ़ता था, तभी गिर पड़ता था।”



ऐसी अन्य ख़बरें